• English
  • Login / Register

जल्द लागू होगी फेम 3 ईवी सब्सिडी पॉलिसी: क्या कुछ मिल सकता है खास,इन 3 पॉइन्ट्स के जरिए समझिए

प्रकाशित: मई 30, 2024 11:45 am । भानु

  • 586 Views
  • Write a कमेंट

FAME III: 3 Things To Know

फास्टर अडॉप्शन एंड मैन्यूफैक्चरिंग ऑफ इलेक्ट्रिक व्हीकल्स यानी फेम पॉलिसी का तीसरा चरण प्रस्तावित है जो कि जुलाई से लागू हो सकता है। भारत में इलेक्ट्रिक व्हीकल्स को पॉपुलर करने और अपनाए जाने के लिहाज से लाई गई इस पॉलिसी के दूसरे चरण के तहत मार्च 2024 तक काफी लोगों को इसेंटिव्स दिए गए और फेम-3 पॉलिसी के तहत भी ऐसा होगा जिसमें कुछ बदलाव नजर आ सकते हैं। 

छोटे इलेक्ट्रिक व्हीकल्स को इंसेटिव्स मिलने रहेंगे जारी

बात की जाए सबसे ज्यादा इलेक्ट्रिक व्हीकल्स की बिक्री की तो इसमें कारों की संख्या ज्यादा नहीं है। मगर देश में पब्लिक ट्रांसपोर्ट में इस्तेमाल किए जाने वाले इलेक्ट्रिक व्हीकल्स सबसे ज्यादा बिक रहे हैं। माना जा रहा है कि पहले की तरह फेम-3 सब्सिडी के तहत इलेक्ट्रिक 2 व्हीलर्स और इलेक्ट्रिक 3 व्हीलर्स की खरीद पर समान इंसेटिव्स दिए जाएंगे। फेम 2 पॉलिसी के तहत इलेक्ट्रिक स्कूटर्स की कीमत पर 15 प्रतिशत की सब्सिडी दी जा रही थी। सरकार द्वारा इलेक्ट्रिक 2 व्हीलर्स पर 22,500 रुपये तक की सब्सिडी दी जा रही थी वहीं इलेक्ट्रिक 3 व्हीलर्स पर 1,11,505  सब्सिडी दी जा रही थी।  बसों पर भी सब्सिडी मिलना जारी रह सकती है। 

कारों पर सब्सिडी हो सकती है खत्म

Tata Nexon EV

कारों पर भी सब्सिडी दिए जाने का निर्णय अभी विचारधीन है मगर माना यही जा रहा है प्राइवेट और कमर्शियल दोनों तरह के इस्तेमाल में ली जाने वाली इलेक्ट्रिक कारों पर अब सब्सिडी खत्म की जा सकती है। 

फेम-1 पॉलिसी के तहत तो 15 लाख से कम कीमत वाली कारों की खरीद पर सब्सिडी दी जा रही थी। मगर फेम 2 पॉलिसी के तहत प्राइवेट इलेक्ट्रिक व्हीकल्स पर सब्सिडी खत्म कर दी गई थी। इसके बजाए अब सरकार नई फेम पॉलिसी के तहत स्ट्रॉन्ग हाइब्रिड कारों पर सब्सिडी दे सकती है। 

यह भी पढ़ें: मारुति सुजुकी ईडब्ल्यूएक्स इलेक्ट्रिक हैचबैक का डिजाइन भारत में हुआ पेटेंट, क्या वैगनआर का इलेक्ट्रिक अवतार होगी ये अपकमिंग कार?

इलेक्ट्रिक कारों की बजाए हाइब्रिड कारें की जा सकती है शामिल

Toyota Urban Cruiser Hyryder

भारतीय बाजार में खासतौर पर स्ट्रॉन्ग हाइब्रिड कारें काफी पॉपुलर है जिनपर सरकार की ओर अब तक तो कोई सब्सिडी नहीं दी जा रही थी। हालांकि मार्केट में हाइब्रिड कारों के काफी कम ऑप्शंस है। अब नई फेम पॉलिसी के तहत स्ट्रॉन्ग हाइब्रिड कारों पर सब्सिडी दी जा सकती है बशर्ते उनकी कीमत 15 लाख रुपये से कम हो। 

यह भी पढ़ें: हुंडई क्रेटा ईवी 2025 तक हो सकती है लॉन्च, ये पॉइन्ट्स कर रहे हैं इशारा

हालांकि अभी तक किसी भी स्ट्रॉन्ग हाइब्रिड कार की कीमत 15 लाख से कम नहीं है। भारत में सबसे अफोर्डेबल स्ट्रॉन्ग हाइब्रिड कार टोयोटा अर्बन क्रूजर हाइराइडर ही है जिसकी शुरूआती कीमत 16.66 लाख रुपये एक्सशोरूम है। यदि ऐसी कारों पर सब्सिडी दी जानी शुरू हो गई तो फिर कई कारमेकर्स अफोर्डेबल स्ट्रॉन्ग हाइब्रिड कारें तैयार करना शुरू कर सकते हैं जिससे फेम-3 सब्सिडी के तहत लोगों को इंसेटिव्स का लाभ मिल सकता है। 

ये फेम-3 पॉलिसी को लेकर सिर्फ हमारी उम्मीदें थी जो अब भी विचारधीन है। अब इसमें प्राइवेट कारों को इसमें शामिल किया जाएगा या नहीं ये एक बातचीत का मुद्दा है। फेम-3 की ज्यादा जानकारी के लिए बने रहिए कारदेखो के साथ। 

द्वारा प्रकाशित
was this article helpful ?

0 out ऑफ 0 found this helpful

Write your कमेंट

Read Full News

कार न्यूज़

  • ट्रेंडिंग न्यूज़
  • ताजा खबरें

ट्रेंडिंग इलेक्ट्रिक कारें

  • पॉपुलर
  • अपकमिंग
×
We need your सिटी to customize your experience