रेनो KWID

` 2.9 - 4.2 Lac*
रेनो KWID फोटोज
  • रंग (कलर्स)

रेनो KWID मॉडल और कीमत

वेरिएंट की लिस्ट नीचे देखें

एडव्टाइजमेंट

रेनो के अन्य कार मॉडल

 
*Rs

रेनो KWID के विडियो

यू-ट्यूब & वेब से सबसे अच्छा विडियो उठाया है - व्यू ऑॅल

भारत में रेनो KWID के रिव्यू

 

न्यूज़ हाईलाइट:


अगस्त 22, 2016: रेनो इंडिया ने क्विड का पावरफुल अवतार लाॅन्च कर दिया है। इसे दो वेरिएंट आरएक्सटी और आरएक्सटी (ओ) में उतारा गया है। इनकी कीमत क्रमशः 3.8 लाख रूपए और और 3.9 लाख रूपए (एक्स-शोरूम, दिल्ली) रखी गई है। पावरफुल क्विड में 1.0 लीटर का इंजन दिया गया है। जो 68 पीएस की पावर और 91 एनएम का टाॅर्क देता है। वहीं 799 सीसी वाली क्विड की पावर 54 पीएस और टाॅर्क 72 एनएम है। पावरफुल क्विड की लाॅन्चिंग के तुरन्त बाद कंपनी ने 799 सीसी वाली क्विड की कीमत में 3000 से लेकर 6000 रूपए तक का इज़ाफा किया है। अब इसकी शुरूआती कीमत 2.7 लाख रूपए है जो 3.8 लाख रूपए तक जाती है। पावरफुल क्विड में 7 इंच का टचस्क्रीन इंफोटेनमेंट सिस्टम और डिजिटल इंस्ट्रूमेंट क्लस्टर दिया गया है। क्विड का मुकाबला मारूति सुज़ुकी आॅल्टो, हुंडई इयाॅन, डैटसन रेडी-गो से है।

ऑवरव्यू:


कार का परिचय


भारत में शुरू से ही छोटी कारों की काफी अहमियत रही है।छोटी कारें हर मामले में व्यवहारिक और भरोसेमंद साबित होती हैं। यही प्रमुख कारण है कि घरेलू कार बाजार में बिक्री के मामले में छोटी कारों की बड़ी हिस्सेदारी है। लंबे वक्त से मारूति का इस सेगमेंट में दबदबा रहा है। मारूति की ऑल्टो को तो इस सेगमेंट का बादशाह भी कहा जाता है। हालांकि ऑल्टो को टक्कर देने के लिए यहां हुंडई की इयॉन, टाटा नैनो और डैटसन गो भी मौजूद हैं।

image 01

फ्रेंच कंपनी रेनो ने एंट्री लेवल हैचबैक सेगमेंट में कदम रखते हुए पिछले साल क्विड को यहां उतारा। क्विड शुरुआत से ही काफी लोकप्रिय रही। यहां जानते हैं कि इस कार से जुड़ी हर बात को विस्तार से।

प्लस पोइंट:


1. कीमत काफी आकर्षक है, एक्स-शोरूम कीमत 2.70 लाख से शुरू होती है और टॉप वेरिएंट 3.60 लाख रूपए तक जाता है।
2. इसे एसयूवी जैसा स्टाइल दिया गया है। बॉडी क्लैडिंग और बोल्ड डिजायन इसे दूसरी छोटी कारों से अलग बनाते हैं।
3. 25.17 किलोमीटर प्रति लीटर के (एआरएआई सर्टिफाइड) साथ यह सबसे बेहतर माइलेज़ देने वाली कार है।
4. कार में बाकी छोटी कारों की तुलना में ज्यादा जगह है।

माइनस पोइंट:


1. टॉप वेरिएंट में एबीएस का विकल्प न होना।
2. इंटीरियर क्वालिटी को और बेहतर किया जा सकता था।
3. इंजन की आवाज और वाइब्रेशन ज्यादा है।
4. शहर में ड्राइविंग के लिए अच्छी है लेकिन हाइवे पर यह हांफती हुई महसूस होती है।
5. प्रतियोगी कंपनियों मारूति और हुंडई के पास ऑल्टो के-10 और इयॉन 1.0ली. जैसे ज्यादा पावरफुल इंजन वाले विकल्प भी मौजूद हैं।

फीचर्स जो बनाते हैं दूसरों से अलग


1. टच स्क्रीन मीडिया-नैव सिस्टम दिया गया है।
2. डिजिटल इंस्ट्रूमेंट क्लस्टर मौजूद है, इसमें गियर शिफ्ट इंडिकेटर, माइलेज़ और कितना पेट्रोल बचा है, जैसी जानकारियां मिलती हैं। यह फीचर्स इस सेगमेंट में पहली बार दिए गए हैं।

ऑवरव्यू:


रेनो के लिए क्विड एक बड़ी सफलता साबित हुई है। कार को काफी बुकिंग मिली हैं। यह दिखाता है कि इस कार ने लोगों पर अपना कितना जादू चलाया है। बाजार में क्विड से मारूति को कड़ी टक्कर मिल रही है। क्विड के कॉन्सेप्ट को 2014 के ऑटो एक्सपो में दिखाया गया था। जहां इसने काफी तारीफें बटोरीं।

हैचबैक क्विड को एसयूवी स्टाइल दिया गया है। यह काफी प्रभावित करती है। इसे छोटी एसयूवी तो नहीं लेकिन छोटी क्रॉसओवर कार कहना सही रहेगा। बॉडी पर प्लास्टिक क्लैडिंग के साथ दी गईं बोल्ड लाइनें इसे दमदार बनाती हैं। कुछ लोगों का तो मानना है कि इसके डिजायन में 70 फीसदी डस्टर की झलक मिलती है। छोटी कारों के सेगमेंट में यह एक नयापन लेकर आई है।

क्विड को ग्लोबल कार भी कहा जा सकता है। इसे रेनो के मुंबई स्थित डिजायन सेंटर में कोरिया, फ्रांस और जापान में मौजूद दूसरे सेंटरों से मिले इनपुट के आधार पर डिजायन किया गया है।

क्विड को किफायती कार बनाए रखने में रेनो ने काफी मशक्कत की है। इसमें 0.8-लीटर का पेट्रोल इंजन दिया गया है, जो 25.17 किमी प्रति लीटर का बेहतरीन माइलेज देने में सक्षम है। क्विड का नया अवतार एक लीटर या एक हजार सीसी के इंजन के साथ आएगा। इसे त्यौहारी सीज़न तक बाजार में पेश किया जाएगा।

एक्सटीरियर:


रेनो पहली कंपनी है जिसने एंट्री लेवल कारों के सेगमेंट में एसयूवी जैसा अहसास देने वाली कार उतारी है। ऑल्टो के मुकाबले क्विड ज्यादा आकर्षक और युवा नज़र आती है।

image 02

क्विड के एक्सटीरियर की बात करें तो फ्रंट में ब्लैक कलर की हनीकॉम्ब ग्रिल दी गई है। जिस पर कंपनी का लोगो क्रोम फिनिश में मौजूद है। अगर आपको क्रोम फिनिशिंग ज्यादा पसंद है तो इस ग्रिल को अपने मन मुताबिक रेनो से ही कस्टामाइज भी करा सकते हैं।

image 03

कार के बंपर को भी दमदार डिजायन दिया गया है। इसमें गोल फॉग लैंप्स मौजूद हैं। नीचे की तरफ छोटा एयरडैम मौजूद है, जिसका डिजायन ग्रिल जैसा ही रखा गया है।

image 04

क्विड वैसे ज्यादा ऊंची नहीं है लेकिन इसकी विंडो लाइन को ऊंचा और चौड़ा रखा गया है। इससे यह बड़ी नज़र आती है। नीचे की तरफ दी गई ब्लैक स्लैट विनायल स्टीकर की है। इन्हें डीलरशिप से ही अपग्रेड कराकर प्लास्टिक क्लैडिंग लगवाई जा सकती है।

image 05

क्विड में 13 इंच के रिम और 155एमएम के टायर दिए गए हैं। इन्हें रिम से कसे रखने के लिए तीन नट वाला ले-आउट दिया गया है। यह टाटा नैनो की याद दिलाता है। यहां 4 नट वाला ले-आउट दिया जा सकता था। हुंडई इयॉन में भी ऐसे ही टायर और रिम मौजूद हैं। वहीं नैनो और ऑल्टो 800 में इनसे पतले 135 और 145 एमएम के टायर, 12 इंच के रिम में दिए गए हैं।

image 06

कार में दिए डोर हैंडल और दरवाजों पर लगे शीशे वैसे ही हैं जैसे आमतौर पर देखने को मिलते हैं। इन्हें ब्लैक शेड में रखा गया है। शीशों को अंदर से एडजेस्ट नहीं किया जा सकता है और इनके प्लास्टिक कवर की क्वालिटी निराश करती है। जबकि ऑल्टो-800 में शीशों को अंदर से एडजेस्ट कर सकते हैं। साइड टर्न इंडीकेटर्स को फ्रंट व्हील आर्च पर दिया गया है।

image 07

पीछे की तरफ कार में ज्यादा बैज़िंग का इस्तेमाल नहीं किया गया है। टेललैंप्स को बेसिक रखा गया है। रेनो के लोगो और क्विड के बैज़ को सेंटर में रखा गया है। रेनो के नाम को नीचे की तरफ दिया गया है। पिछले बंपर के निचले हिस्से को ब्लैक क्लैडिंग दी गई है। यह सभी वेरिएंट में स्टैंडर्ड फीचर है। टॉप वेरिएंट में भी पूरी तरह से बॉडी कलर बंपर का ऑप्शन मौजूद नहीं है।

image 08

कार की छत को यू शेप में उभारा गया है। इससे कार को बोल्ड लुक मिलता है। सभी वेरिएंट में पीछे की तरफ इंटीग्रेटेड रूफ स्पॉइलर दिया गया है। इसके अलावा एफएम एंटीना भी दिया गया है। रूफ रेल्स का विकल्प भी यहां मौजूद है। रूफ रेल्स डीलरशिप से लगवाई जा सकती हैं।

image 09

कार के अगले हिस्से में केवल एक वॉश वाइपर ही मौजूद है। पिछले हिस्से में वाइपर नहीं दिया गया है। आगे का वाइपर शीशे के काफी एरिया को कवर कर लेता है। टॉप वेरिएंट में शीशे को साफ करने के लिए मिस्ट फंक्शन दिया गया है। इसमें आमतौर पर निकलने वाली पानी की बौछार के बजाए भाप जैसी निकलती है। इस सेगमेंट में यह फीचर पहली बार दिया गया है।

image 10

एक्सटीरियर मेजरमेंट पर नजर डालें तो रेनो क्विड की लम्बाई 3679एमएम, चौड़ाई 1579एमएम (आउटसाइड मिरर को छोड़कर) और ऊंचाई 1478एमएम दी गई है। कार का ग्राउण्ड क्लीयरेंस 180एमएम व व्हीलबेस 2422एमएम रखा गया है।

Table 01

Table 02

इंटीरियर:


क्विड की कीमत को देखते हुए यह सोचना लाजिमी है कि इसके इंटीरियर में ग्राहकों को समझौता करना पड़ेगा, लेकिन ऐसा है नहीं। कार को बनाते समय इस बात का पूरा ख्याल रखा गया है कि ड्राइवर के रोजमर्रा इस्तेमाल में आने वाले हर फीचर्स यहां दिया गया है। हालांकि केबिन में दिए प्लास्टिक की क्वालिटी थोड़ा निराश करती है।



जब आप कार में बैठते हैं तो सबसे पहले इसमें दिया गया सात इंच का इंफोटेंमेंट सिस्टम आपका ध्यान खींचता है। इसके चारों तरफ पियानो ब्लैक बेजल और क्रोम फिनिश दी गई है। इस सिस्टम में नेविगेशन, यूएसबी, ऑक्स और ब्लूटूथ कनेक्टिविटी दी गई है। इस सेगमेंट में यह पहली कार है जिसमें इंफोटेंमेंट सिस्टम दिया गया है।

image 12

एयर कंडीशनिंग यूनिट के फंक्शन को इंफोटेंमेंट सिस्टम के नीचे दिया गया है। नॉब्स को क्रोम फिनिश दी गई है। पैसेंजर और ड्राइवर साइड के एसी वेंट राउंड शेप के हैं। इन पर क्रोम फिनिश दी गई है। बीच वाले एसी वेंट्स आयताकार हैं। क्विड के बेस वेरिएंट में एसी की सुविधा मौजूद नहीं है।

image 13

सेंटर कंसोल के नीचे की तरफ पार्किंग लाइट, पावर विंडोज़ और सेंट्रल लॉकिंग के लिए बटन दिए गए है। इनमें एक सॉकेट खाली छोड़ा गया है। माना जा रहा है कि यहां पर ऑटोमैटिक वेरिएंट में आने वाली गियरशिफ्ट नॉब दी जाएगी।

इसके नीचे गियर लीवर के आगे कप होल्डर और 12वोल्ट का चार्जिंग पॉइंट दिया गया है। इसके साथ ही हैंडब्रेक और गियर स्टिक के बीच में भी छोटा सा स्पेस मौजूद है।

image 14

ड्राइवर के लिहाज से देखें तो क्विड में दिया गया छोटा स्टीयरिंग व्हील देखने और इस्तेमाल में अच्छा है। इग्निशन में चाभी घुमाते ही इसका ऑरेंज कलर का इंस्ट्रूमेंट क्लस्टर चमक उठता है। इसमें कई सारी जानकारियां आपको मिलेंगी। इनमें ऑडोमीटर, फ्यूल रेंज, ट्रिप मीटर, माइलेज़, डिस्टेंस ट्रैवल्ड और एवरेज़ स्पीड शामिल है। इन्हें अपने मुताबिक रि-सेट भी किया जा सकता है।

image 15

हैडलाइट और इंडीकेटर लीवर स्टीयरिंग के साथ दिया गया है। यह इस्तेमाल में आसान है। इसमें लेन चेंज फीचर भी मौजूद है। इसे हल्के से दबाने पर टर्न इंडीकेटर तीन बार ब्लिंक करता है और फिर अपने आप बंद हो जाता है।

image 16

पैसेंजर साइड पर दो ग्लोव बॉक्स दिए गए हैं। इसमें ऊपर की तरफ दिए स्पेस में वॉटर बोतल रखी जा सकती है। नीचे वाले ग्लोव बॉक्स में सामान रखा जा सकता है। इसमें अच्छी जगह मौजूद है। इनके बीच में ओपन सेल्फ भी दी गई है।

image 17

फ्रंट स्पीकर्स डैशबोर्ड के दोनों कोनों में मौजूद हैं। इनकी साउंड क्वालिटी ठीक-ठाक है। इनसे बहुत ज्यादा उम्मीद करना सही नहीं होगा। अगर आपको स्पीकर्स से अच्छी और दमदार अवाज की दरकार है तो फिर स्पीकर्स को अपग्रेड करना होगा।

फ्रंट सीट को तीन कलर टोन दी गई है। इनमें रेड-ग्रे-ब्लैक का कॉम्बिनेशन शामिल है। सीटों पर दिए हैडरेस्ट फिक्स हैं, इन्हें एडजेस्ट नहीं किया जा सकता है। क्विड की सीटें ऑल्टों के मुकाबले ज्यादा आरामदायक हैं। इनमें ज्यादा जगह और पैरों को ज्यादा सपोर्ट मिलता है।

image 18

कार में पीछे की तरफ काफी जगह है। यहां लंबे कद के लोग भी आराम से बैठ सकते हैं। इस मामले में यह ऑल्टो और इयॉन से कहीं आगे है। पीछे की सीट पर वैसे तो तीन लोग बैठ सकते हैं लेकिन दो लोगों में ही सफर आरामदायक रहेगा। पिछली सीटों पर कुशन की कमी महसूस होती है, लेकिन पोजिशन की बात करें तो इन्हें भी ऊंचा रखा गया है। इससे पीछे बैठे पैसेंजर को भी आगे का अच्छा व्यू मिलता है।

कार की सीट बेल्ट खुद ब खुद एडजेस्ट होने वाली नहीं हैं। ऐसे में कई बार आपको दरवाजा बंद करते वक्त यह ध्यान रखना होगा कि यह दरवाजे के बीच न आएं। सीट बेल्टों के फैले रहने की वजह से पीछे की तरफ की सीटें भी अस्त-व्यस्त लग सकती है। पीछे की तरफ पावर विंडो भी नहीं दी गई है। इन्हें मैनुअल ही खोलना और बंद करना होगा। उम्मीद है कि आने वाले वक्त में रेनो, क्विड के टॉप वेरिएंट में इसकी सुविधा देगी। कुल मिलाकर कर सीटों की बात करें तो क्विड की पिछली सीट प्रतियोगिता में मौजूद सभी कारों से बेहतर है। बूट स्पेस के मामले में क्विड का प्रदर्शन अच्छा है। ड्राइवर सीट के नीचे दी गई नॉब से या फिर चाभी से इसके बूट को खोला जा सकता है। क्विड का बूट स्पेस 300 लीटर का है। हैचबैक सेगमेंट में यह सबसे बेहतर बूट स्पेस है। क्विड की पिछली सीटों को फोल्ड कर इस स्पेस को और बढ़ाया जा सकता है।

image 19

बूट स्पेस में अंदर की तरफ से व्हील आर्च पर कोई कवर नहीं दिया गया है। यह देखने में थोड़ा खराब लगता है। हालांकि यह वो हिस्सा है जो सामान रखने के अलावा ज्यादा काम में नहीं आता है। इसको नजरअंदाज किया जा सकता है। बाकी कारों की तरह ही बूट में नीचे की तरफ स्टेपनी दी गई है।

इंटीरियर के मोर्चे पर देखें तो कीमत के मुकाबले क्विड में काफी फीचर्स मौजूद हैं। एक बजट कार होने के बावजूद इसे अच्छे फीचर्स से लैस किया गया है। कम कीमत के बावजूद कार में जरूरी फीचर्स की कमी नहीं खलती है। यह कार बेहतर अनुभव देने में सक्षम है।

परफोरमेंस:


Table 03

पेट्रोल


क्विड में 800सीसी का इंजन मौजूद है। यह छोटी कारों में मौजूद अब तक का सबसे कार्यकुशल इंजन है। कार का एआरएआई सर्टिफाइड माइलेज़ 25.17 किलोमीटर प्रति लीटर का है। तुलना करें तो ऑल्टो का माइलेज़ 22.74 किमी प्रति लीटर का है वहीं इयॉन का माइलेज़ 21.1 किमी प्रति लीटर का है। क्विड की ताकत 53.3 बीएचपी की है। यह 4,386 आरपीएम पर 74 एनएम का टॉर्क जनरेट करती है। ऑल्टो के मुकाबले इसकी ताकत 6बीएचपी ज्यादा है। इयॉन इससे 2बीएचपी ज्यादा ताकत देती है लेकिन वजन के मामले में इयॉन, क्विड से ज्यादा भारी है।

image 20

क्विड में 5-स्पीड गियरबॉक्स दिया गया है। केवल ड्राइवर के साथ कार का इंजन अच्छा रिस्पॉन्स देता है लेकिन अगर इसमें ज्यादा पैसेंजर बैठाए जाएं और सामान भी रख दिया जाए तो कार के इंजन पर पड़ रहा दबाव साफ महसूस होता है। कार को रफ्तार पकड़ने में संघर्ष करना पड़ता है।

इंजन का प्रदर्शन इस सेगमेंट की दूसरी कारों की तुलना में अच्छा है। कभी-कभार यह इंजन वाइब्रेशन देता है लेकिन ऊंचे आरपीएम लेवल पर यह अच्छे से काम करता है। इंजन कंपार्टमेंट में शोर और वाइब्रेशन को रोकने के लिए किया गया इंसुलेशन अच्छा है।

इस कार को मुख्यतौर पर शहर में ड्राइविंग की जरूरतों को देखते हुए बनाया गया है। शहर में ड्राइविंग को दौरान अच्छा प्रदर्शन भी करती है। लेकिन हाइवे और ज्यादा ऊंचे-नीचे रास्तों में कार की परफॉरमेंस कम हो जाती है। कभी-कभार के लिए इसे हाइवे राइड पर ले जाया जा सकता है।

ज्यादा पावरफुल 1000सीसी इंजन वाली क्विड के लिए थोड़ा और इंतजार करना होगा। इसमें पावरफुल इंजन के अलावा ऑटोमैटिक गियरबॉक्स का विकल्प होगा। पावर की बात करें तो नई क्विड की ताकत करीब 70बीएचपी होगी और यह 90एनएम का टॉर्क देगी।

राइड और हैडलिंग


डस्टर और रेनो लॉज़ी की तरह क्विड की भी राइड और हैंडलिंग अच्छी है। सिटी कार होने की वजह से इसके सस्पेंशन सिस्टम को शहरी सड़कों के मुताबिक ट्यून किया गया है। छोटे गड्ढों और थोड़ी बहुत कच्ची सड़कों को कार आराम से झेल लेती है। ऊंची होने की वजह से तीखे मोड़ों में अगर इसे तेजी से मोड़ा जाता है तो इसमें बॉडी रोल महसूस होता है। इसका टर्निंग रेडियस 5मीटर का है, जो ऑल्टो-800 के 4.6 मीटर के टर्निंग रेडियस के मुकाबले में ज्यादा है। कम या तंग जगह से क्विड को निकालने में थोड़ी मशक्कत करनी पड़ सकती है।

कार की ब्रेकिंग पावर ठीक है। ब्रेक लगाते ही कार बिना किसी परेशानी के रुक जाती है। हालांकि तेज़ रफ्तार में अगर जोर से ब्रेक लगाए जाएं तो इसके अगले पहिये लॉक होकर फिसल सकते हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि इसमें एंटी लॉक ब्रेकिंग सिस्टम (एबीएस) नहीं दिया गया है।

स्टीयरिंग कम स्पीड में अच्छा रिस्पॉन्स देता है और हल्का बना रहता है। लेकिन स्पीड बढ़ने के साथ यह भारी नहीं होता हल्का ही बना रहता है। यह थोड़ा सा निराश करने वाला हो सकता है।

कुल-मिलाकर अगर कार को शहरी परिस्थितियों में 100 किलोमीटर प्रति घंटा से कम की स्पीड पर ड्राइव करते हैं तो इसमें शिकायत की कोई गुंजाइश नहीं मिलेगी।

सेफ्टी


image 21

क्विड को फिलहाल किसी भी क्रैश टेस्ट से गुजारा नहीं गया है। सेफ्टी के लिए कार के टॉप वेरिएंट आरएक्सटी में ड्राइवर साइड एयर बैग का ऑप्शन दिया गया है। हालांकि इसमें पैसेंजर साइड एयरबैग का विकल्प भी दिया जा सकता था। किसी भी वेरिएंट में एबीएस का नहीं होना भी बड़ी कमी है।

वेरिएंट और फीचर्स


क्विड छह वेरिएंट में आती है

Table 04

क्विड का बेस वेरिएंट एकदम बेसिक है। इसमें ना आपको एसी मिलेगा, ना ही पावर स्टीयरिंग। आरक्सई वेरिएंट में एसी के साथ कुछ दूसरे फीचर्स जोड़े गए हैं। लेकिन यहां भी पावर स्टीयरिंग की कमी बनी रहती है। पावर स्टीयरिंग की कमी से ड्राइविंग थोड़ी थकान भरी हो जाती है। इस वेरिएंट में 2डिन एंटरटेंमेंट सिस्टम का विकल्प दिया गया है।

मिड लेवल वाले आरएक्सएल वेरिएंट में इलेक्ट्रॉनिक पावर स्टीयरिंग दिया गया है। इसे आरामदायक ड्राइविंग के लिहाज से सबसे महत्वपूर्ण फीचर कहा जा सकता है। टॉप वेरिएंट आरएक्सटी में ही सात इंच का इंफोटेंमेंट सिस्टम दिया गया है। इसी वेरिएंट में फ्रंट पावर विंडो और फॉग लैंप दिए गए हैं। यह वेरिएंट उन लोगों के लिए सबसे मुफीद है, जिनके पास पहले से एक बड़ी कार है और वे सिटी राइडिंग के लिए दूसरी छोटी कार की ख्वाहिश रखते हैं। हालांकि सेफ्टी के लिए यहां सिर्फ ड्राइवर एयरबैग का विकल्प है।

हमारी राय में क्विड का आरएक्सएल वेरिएंट लेना बेहतर रहेगा। यह वेरिएंट वैल्यू फॉर मनी कहा जा सकता है। लेकिन अगर आप टच स्क्रीन इंफोटेंमेंट और एयरबैग की चाहत रखते हैं तो आपको आरएक्सटी-ओ वेरिएंट चुनना होगा।

निष्कर्ष


इस सेगमेंट की कारों पर नजर डालें तो क्विड यहां सबसे अच्छे विकल्प के तौर पर नजर आती है। एक पैकेज के तौर पर इस कार में अच्छा डिजायन, बेहतर ड्राइविंग परफॉरमेंस और एक्सेसरीज के ज्यादा विकल्प मिलते हैं। माइलेज और जगह के मामले में यह प्रतियोगी कारों को कड़ी टक्कर देती है। अब रेनो के सामने इस कार को लेकर दो चुनौतियां हैं, पहली, मांग के मुताबिक कारों की सप्लाई बढ़ाना। दूसरी, ग्राहकों को बेहतरीन और भरोसेमंद सर्विस की सुविधा मुहैया कराना।