महिन्द्रा KUV 100

` 4.5 - 7.0 Lac*
महिन्द्रा KUV 100 फोटोज
  • रंग (कलर्स)
  • +

महिन्द्रा KUV 100 मॉडल और कीमत

वेरिएंट की लिस्ट नीचे देखें

एडव्टाइजमेंट

महिन्द्रा के अन्य कार मॉडल

 
*Rs

महिन्द्रा KUV 100 के विडियो

यू-ट्यूब & वेब से सबसे अच्छा विडियो उठाया है - व्यू ऑॅल

भारत में महिन्द्रा KUV 100 के रिव्यू

 

हाईलाइट्स


फरवरी 23, 2016: सीमित प्रोडक्शन क्षमता और ग्राहकों से मिली जबरदस्त प्रतिक्रिया की वजह से कुछ चुनिंदा कारों के वेटिंग पीरियड में काफी इजाफा देखने को मिला है। इनमें महिन्द्रा की माइक्रो एसयूवी केयूवी-100 भी शामिल है। इस समस्या का समाधान निकालने के लिए कंपनी ने कमर कस ली है। जल्द ही महिन्द्रा इस कार की निर्माण क्षमता को 5500 कारें प्रति महीने से बढ़ाकर 8,500 कारें प्रति महीना करने जा रही है। इस कदम से केयूवी-100 के वेटिंग पीरियड को नीचे लाने में काफी मदद मिलेगी।

कार का परिचय


महिन्द्रा हमेशा से ही बड़ी, दमदार और हर रास्तों पर चल सकने वाली गाड़ियों के लिए जानी जाती है। कंपनी की स्कॉर्पियो, थार और बोलेरो के कई अवतार आपको अपने चारों तरफ देखने को मिल जाएंगे। जिन्हें पुलिस से लेकर सेना और ट्रांसपोटर्स से लेकर हॉस्पिटलों तक में इस्तेमाल किया जाता है।

कुछ साल पहले कंपनी ने क्वांटो के जरिए सब 4-मीटर सेगमेंट में कदम रखा था। हालांकि क्वांटो उतनी सफल नहीं हुई। इस तरह की कॉम्पैक्ट गाड़ियों में महिन्द्रा का दूसरा दांव टीयूवी-300 बनी। जो काफी सफल रही है। अब महिन्द्रा अपनी तीसरी कॉम्पैक्ट कार के साथ मैदान में है। ये है माइक्रो एसयूवी केयूवी-100 है। कंपनी ने अपनी इस कार को ‘कूल यूटीलिटी व्हीकल’ नाम दिया है। कंपनी का दावा है कि इसे बनाने में अपनी पूरी क्षमता झोंक दी।

image 01

इसे खासतौर पर उन युवाओं को ध्यान में रखकर तैयार किया गया है जो किफायती दाम में अच्छे लुक और बेहतर फीचर्स की चाहत रखते हैं। महिन्द्रा का यह नया दांव कितना सफल साबित हो पाता है, आइए जानते हैं।

प्लस पॉइंट



1. स्पेस: पीछे की तरफ कार में काफी हैडरूम और लैगरूम दिया गया है।

2. फीचर्स से लैस: डे-टाइम रनिंग लाइटें, चिल्ड ग्लोव बॉक्स, म्यूजिक सिस्टम और स्टीयरिंग माउण्टेड कंट्रोल व एम्बिएंट लाइटिंग जैसे प्रीमियम फीचर्स मौजूद हैं।

3. डीज़ल इंजन का माइलेज 25.83 किमी प्रति लीटर है, जो काफी बेहतर है।

4.सेफ्टी फीचर्स में एबीएस-ईबीडी स्टैण्डर्ड हैं, जबकि एयरबैग का विकल्प बेस वेरिएंट से ही मिलेगा। यानी सुरक्षा ध्यान रखा गया है।

माइनस पॉइंट



1. टायर थोड़े पतले हैं। इनकी ग्रिप बहुत बेहतर नहीं है। तेज रफ्तार और अचानक ब्रेक लगने पर कार डगमगा सकती है।

2. इंजन की आवाज और वाइब्रेशन का स्तर प्रतियोगिता में मौजूद ग्रैंड आई-10 और स्विफ्ट की तुलना में ज्यादा है। खासकर डीज़ल वेरिएंट में।

3. सीटें थोड़ी सख्त हैं, इनसे बहुत ज्यादा सपोर्ट नहीं मिलता है।

लाजवाब फीचर्स



1. सेगमेंट में पहली बार -6 सीटर विकल्प दिया गया है। फ्रंट में दी गई बेंच सीट पर 3 लोग बैठ सकते है।

2. टॉप वेरिएंट के8 में इलेक्ट्रॉनिक स्टार्ट-स्टॉप सिस्टम दिया गया है जो फ्यूल बचाने में मदद करता है।

3. महिन्द्रा का ब्लू सेंस एप के जरिये अपने स्मार्ट फोन पर ऑडियो कंट्रोल्स के अलावा फ्यूल लेवल, पार्किंग लैंप्स, डोर ओपन वॉर्निंग, कार की जानकारी और ऑर्गनाइजर की सुविधा पा सकते हैं।

एक्सटीरियर


केयूवी-100 ने शुरूआत से ही काफी सुर्खियां बटोरीं। जैसी यह तस्वीरों में नज़र आती है, सड़क पर यह उससे कहीं ज्यादा अलग दिखती है।

देखने में वाकई यह छोटी एसयूवी जैसी दिखती है। इसका डिजायन ऐसा है कि या तो एक नज़र में ही ये आपको भा जाएगी या फिर पहली ही नजर में इसे नापसंद कर देंगे।

image 02

फ्रंट साइड में स्लिक हैडलैंप्स डे-टाइम रनिंग लाइट्स के साथ दिए गए हैं। कंपनी के अनुसार यह डिजायन सनग्लासेस से प्रेरित है।

image 03

हैडलैंप्स को स्मोक ट्रीटमेंट दिया गया है। हैडलैम्प कलस्टर में एक लाल रंग की स्ट्रिप दी गई है, जो पहली ही नज़र में ध्यान खींचती है।

image 04

ग्रिल को देखें तो यहां महिन्द्रा की सिग्नेचर ग्रिल मौजूद है। ग्रिल पर क्रोम फिनिश वाले 6 ‘टीथ’ और कंपनी का लोगो मौजूद है। अगले बंपर को काफी बोल्ड बनाया गया है। इस पर क्लेडिंग दी गई है। वर्टिकल फॉग लैंप्स पर चारों क्रोम फिनिश दी गई है। मैट सिल्वर रंग में दी गई फॉक्स स्किड प्लेट इसे एसयूवी जैसा लुक देती है।

image 05

साइड में देखें तो क्रीज़ लाइन देखने को मिलती है जिन्हें हैडलाइट से फ्रंट दरवाजे तक दिया गया है। दूसरी क्रीज़ लाइन पीछे की ओर दी गई है जो सी पिलर से रियर लाइट तक होती हुई बूट पर खत्म होती है। रूफ लाइन को ऊंचा रखा गया है जो लम्बे लोगों के लिए फायदेमंद है। पिछले दरवाजों के हैंडल आपको दरवाजे की जगह पीछे की विंडो पर मिलेंगे। इसके अलावा रूफ रेल्स और चौड़े व्हीलआर्च इसकी साइड प्रोफाइल को दमदार बनाते हैं।

image 06

आगे चलें तो 14 इंच के स्पाइडर डिजायन वाले 185एमएम टायर यहां देखने को मिलते हैं। जो प्रभावित नहीं करते हैं। टायर छोटे और पतले हैं जो इसे कहीं से भी एसयूवी जैसा लुक नहीं दे पाते हैं। बड़े और चौड़े टायर इस कार की डिजायन और परफॉर्मेंस पर ज्यादा बेहतर असर डालते।

image 07

कार के पिछले हिस्से को साफ रखा गया है। पीछे की ओर दी गई क्रीज़ लाइन टेललैंप्स को कवर करती है। इंटीग्रेटेड स्पॉइलर, क्लैडिंग और ड्यूल फॉग लैंप्स इसे पीछे से जानदार बनाते हैं ।

image 08

अब आते हैं मेज़रमेंट पर, केयूवी-100 की लम्बाई 3675एमएम, चौड़ाई 1715 और ऊंचाई 1655एमएम (रूफ रेल्स सहित) है। वैसे देखा जाए तो केयूवी-100 की लम्बाई फोर्ड फीगो, ग्रैड आई-10 और मारूति स्विफ्ट की तुलना में थोड़ा कमतर है लेकिन इसके इंटीरियर को ऐसे बनाया गया है कि इसमें ज्यादा जगह मिलती है। चौड़ाई और ऊंचाई के मामले में यह बाकी तीनों पर भारी पड़ती है। कंपनी ने केयूवी-100 को फ्लेम्बॉयंट रेड, फिएरी ऑरेंज और एक्वामरीन सहित 3 कलर में उतारा है।

Table 01

Table 02

इंटीरियर


केयूवी-100 के दरवाजे आराम से खुलते हैं और काफी चौड़े हैं। इससे कार में दाखिल होना या बाहर निकलना आसान हो जाता है। बाहर से छोटी दिखने वाली इस कार के केबिन में काफी जगह है। केबिन में बैठते ही हल्के ग्रे कलर का इंटीरियर नज़र आता है। सीटों को भी ग्रे शेड में दिया गया है। डैशबोर्ड पर पियानो ब्लैक, मैटल ब्लैक और ड्यूल सिल्वर फिनिश दी गई है। इसका इंटीरियर अच्छा है लेकिन कलर थीम युवाओं को बहुत ज्यादा आकर्षित करने वाली नहीं लगती है। यहां सुधार औऱ अपडेट की काफी गुंजाइश है।

image 09

केयूवी-100 में फ्लैक्सी सीटिंग दी गई है। इसमें 2+3 सीटिंग और 3+3 सीटिंग का ऑप्शन दिया गया है। 3+3 सीटिंग के ऑप्शन में फ्रंट सीट पर इंटीग्रेटेड हैडरेस्ट दिए गए हैं। वहीं 2+3सीटर वेरिएंट में फ्रंट में एडजेस्ट होने वाले हैडरेस्ट दिए गए हैं।

image 10

ड्राइविंग सीट की हाईट अपने मुताबिक एडजेस्ट की जा सकती है। इससे छोटे कद के ड्राइवर को ज्यादा सुविधा होगी। इसकी सीटें थोड़ी हार्ड है जो लम्बे सफर के लिए तो ठीक रहती हैं लेकिन रोजाना इस्तेमाल के लिहाज से यह कंफर्टेबल नहीं रहती हैं। सीटों में कुशनिंग और शोल्डर सपोर्ट को बढ़ाया जा सकता था।

image 11

अब बात करें इसकी फ्रंट मिडिल सीट की तो यह इस्तेमाल लायक तो है लेकिन यहां अगर तीन पैसेंजर बैठ जाते हैं तो उनके कंधे आपस में टकराएंगे। वहीं ड्राइवर को भी गियर लिवर को इस्तेमाल करने में थोड़ी परेशानी हो सकती है क्योंकि गियर लिवर की पोजिशन मीडिल सीट के ठीक सामने है। जब कार को दूसरे, चौथे या रिवर्स गियर में डाला जाता है तो ड्राइवर की कुहनी बीच में बैठे पैसेंजर की छाती से टकराती है। मिडिल सीट पर किसी को बैठाना हो तो आगे की सीटों को पीछे की ओर सेट करना होगा। ऐसा नहीं करने पर बीच में बैठे पैसेंजर के घुटने सेंटर कंसोल पर टकराएंगे।

इस सीट को झुकाकर आर्म रेस्ट के तौर पर भी काम में लिया जा सकता है। हालांकि इस दौरान हैंडब्रेक तक पहुंच पाना थोड़ा मुश्किल हो जाता है। वहीं ऐसे में जब दूसरे, चौथे और रिवर्स गियर का इस्तेमाल होता है तो ड्राइवर की कुहनी आर्मरेस्ट से टकराती है। 6 सीटर ऑप्शन में स्टोरेज स्पेस घट जाता है, जबकि 5 सीटर ऑप्शन में काफी स्टोरेज स्पेस मिलता है।

image 12

मिडिल सीट के बारे में कंपनी का कहना है कि यह ऐसे समय के लिए काफी फायदेमंद होगी जब आपके साथ कोई मेहमान हो और आप दूसरी कार न ले जाना चाहें। मिडिल सीट के लिए एयरबैग नहीं दिया गया है लेकिन एक लैप बेल्ट मिलेगी। कंपनी के अनुसार सेंटर कंसोल को इस तरह डिजायन किया गया है कि हादसे की स्थिति में बीच में बैठे पैसेंजर को चोट लगने की संभावना कम से कम से कम रहे। बात करें पिछली सीटों की तो यहां हैडरूम और लैगरूम के लिए काफी स्पेस मौजूद है। मारूति स्विफ्ट/डिजायर के मुकाबले यह काफी ज्यादा है।

image 13

केयूवी-100 में मौजूद जगह का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि अगर ड्राइवर और को-पैसेन्जर पीछे की ओर सीट खिसका कर भी बैठते हैं तो भी पीछे बैठे लोगों के लिए पर्याप्त नी-स्पेस मौजूद है। साथ ही पीछे बैठे पैसेंजर को पैर फैलाने में कोई परेशानी नहीं होती। पीछे की सीट में सेन्ट्रल आर्मरेस्ट भी दिया गया है जिसमें कप होल्डर्स भी हैं। इसके अलावा, पीछे दी गई सीट में तीन एडजेस्टेबल हैडरेस्ट भी दिए गए हैं जो सेगमेंट में पहली बार है। हालांकि कंफर्ट बढ़ाने के लिए पिछली सीट को थोड़ा और पीछे की तरफ झुकाया जा सकता था।

डैशबोर्ड का ले-आउट काफी अच्छा है। सेन्ट्रल कंसोल मैटल ब्लैक वर्टिकल शेप में है जिसे चारों ओर से सिल्वर फिनिश दी गई है। ‘केयूवी 100’ का बैज़ भी यहां देखने को मिलता है। इस में 2 एसी वेंट्स, म्यूजिक सिस्टम, वर्टिकल शेप में कंट्रोल बटन और गियर लिवर भी दिया गया है। लीवर की पोजिशन सही रखी गई है।

image 14

एयर कंडीशनिंग सिस्टम काफी प्रभावी है। पीछे की ओर एसी वेन्ट्स नहीं दिए गए हैं लेकिन फिर भी केबिन जल्दी ठंडा हो जाता है। हालांकि इसके एसी के फैन की आवाज काफी ज्यादा है।

image 15 म्यूजिक सिस्टम से 4 स्पीकर और 2 ट्यूटर जोड़े गए हैं, इसकी आवाज औसत दर्जे की है। एफएम और ब्लूटूथ स्ट्रीमिंग सिस्टम ठीक-ठाक है। दमदार आवाज के लिए दीवानों को इस यूनिट को अपडेट करना होगा।

image 16

3.5 इंच स्क्रीन का इंफोटेन्मेंट सिस्टम ड्यूल ब्लैक’-ग्रे बैकग्राउण्ड के साथ है। इसमें लिखी जानकारी आसानी से पढ़ने में आती है और सिस्टम इस्तेमाल करने में काफी सहज है। केयूवी-100 के टॉप वेरिएंट के6 व के8 में महिन्द्रा का ब्लू सेंस एप दी गई है जिससे म्यूजिक सहित अन्य फंक्शन को स्मार्टफोन के जरिये ब्लूटूथ से ऑपरेट किया जा सकता है।

बात करें स्टीयरिंग व्हील की तो यहां 3 स्पोक स्टीयरिंग व्हील देखने को मिलेगा। इस पर सिल्वर फिनिश दी गई है। यहां ऑडियो और कॉल के कंट्रोल बटन दिए गए हैं। लेकिन इनकी क्वालिटी हल्की है यह हल्के प्लाटिक वाला अहसास देते हैं। स्टीयरिंग व्हील के मामले में भी स्थिति कुछ ऐसी ही है। स्टीयरिंग को ऊपर-नीचे एडजेस्ट किया जा सकता है।

image 17

स्टीयरिंग के पीछे है इंस्ट्रूमेंट कलस्टर है जिसमें स्पीडोमीटर और मल्टी इंफो डिस्प्ले (एमआईडी) दिया गया है। इसमें 2 एनालॉग डायल के अलावा टेम्प्रेचर, फ्यूल, गियर पोजिशन, ओडोमीटर और ट्रिपमीटर जैसे फंक्शन दिए गए हैं। इंस्ट्रूमेंट कलस्टर में दिया गया रेड कलर इसे ट्रेंडी बनाता है।

image 18

बात करें फीचर्स की तो केयूवी-100 में चिल्ड ग्लोव बॉक्स, इल्यूमिनिटेड की-रिंग, सन ग्लास होल्डर, एलईडी रूफ लैंप्स दिए गए हैं।

image 19

कार में अच्छा स्टोरेज स्पेस दिया गया है। चारों दरवाजों में 1 लीटर बोटल होल्डर, पैसेन्जर सीट के नीचे स्टोरेज स्पेस, ड्राइवर के पास कॉइन होल्डर और पीछे की सीट के फ्लोर के नीचे भी स्टोरेज स्पेस दिया गया है (जैसाकि आप नीचे दी गई इमेज में देख सकते हैं)।

image 20

oem-name0

अब आते हैं बूट स्पेस पर जो 243 लीटर का है। यह बूट स्पेस ग्रैंड आई-10 (256 लीटर) से तो छोटा है लेकिन मारूति स्विफ्ट (204 लीटर) से काफी ज्यादा बड़ा है। लेकिन बूट स्पेस आगे से कम चौड़ा है, इस वजह से सामान रखने में थोड़ी परेशानी होती है।

image 22

इसकी सख्त सीटों और कुछ बातों को नजरअंदाज कर दें तो कुल मिलाकर कार अच्छी है। किफायती कीमत में मिलने वाले काफी फीचर्स और स्पेस को देखते हुए यह बुरा सौदा नहीं है।

परफॉरमेंस


पेट्रोल इंजन


केयूवी-100 में 1198सीसी का इंजन लगा है। यह इंजन एल्यूमिनियम से बना है जिससे इंजन का वजन काफी कम और हल्का हुआ है। लेकिन फिर भी यह शोर को दबने से रोक नहीं पाया है। इसके डीज़ल इंजन की तरह ही पेट्रोल इंजन भी स्टार्ट होने और स्टार्ट रहने के दौरान काफी वाइब्रेशन देता है।

इसका पेट्रोल इंजन में डीज़ल के मुकाबले टॉर्क थोड़ा देर से मिलता है। बार-बार गियर शिफ्टिंग की जरूरत महसूस होती है। इसका अधिकतम टॉर्क 3500आरपीएम पर जनेरट होता है, जो थोड़ा और बेहतर हो सकता है। यह पेट्रोल इंजन सिटी राइड में तो अच्छा प्रदर्शन करता है, लेकिन हाईवे पर उतना असरदार साबित नहीं होता। 100 किलोमीटर प्रतिघंटा से ज्यादा की रफ्तार पाने में इसे थोड़ा वक्त लगता है। कंपनी के अनुसार इसका माइलेज 18.15 किलोमीटर प्रति लीटर है।

Table 03

डीज़ल


इसके डीज़ल मॉडल में 1.2 लीटर का इंजन लगा है। स्टार्ट होने पर इंजन वाइब्रेशन तो देता है, लेकिन स्कॉर्पियो और एक्सयूवी-500 की तरह इसके गियर लीवर पर इस वाइब्रेशन की झलक दिखाई नहीं देती। कार में वाइब्रेशन के लेवल को काफी हद तक कंट्रोल करने की कोशिश की गई है। ज्यादा आरपीएम पर इंजन स्मूद फील नहीं होता है। हालांकि इंजन के शोर को केबिन में आने से रोकने वाला इंसुलेशन अच्छा है।

image 23

क्लच काफी हल्का है। कार में पावर डिलिवरी तुंरत मिलने के बजाए धीरे-धीरे मिलती है। सिटी राइड में डीज़ल केयूवी-100 को चलाना आसान है। पांचवें गियर में 100 की रफ्तार 2500आरपीएम पर मिलती है। इस दौरान कार का इंजन हल्का महसूस होता है। उस पर दबाव पड़ता नहीं लगता है। टेस्टिंग के दौरान यह कार 3 हेल्दी पैसेंजरों के साथ 130 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार पाने में सफल रही है। हालांकि इस स्पीड में इंजन पर दबाव महसूस होता है और कार इससे आगे की स्पीड पाने में थोड़ा अटकी महसूस होती है।

कंपनी के अनुसार इस कार का माइलेज 25.32 किलोमीटर प्रति लीटर है। इस में माइक्रो हाईब्रिड टेक्नोलॉजी भी लगी है। डीज़ल मोटर में ईको और पावर मोड भी दिए गए हैं। इन दोनों मोड को चेंज करने का अंतर एक्सीलेरेटर पैडल पर महसूस किया जा सकता है। हाईवे पर क्रूजिंग करनी हो तो ईको मोड अच्छा है। लेकिन सिटी ड्राइविंग में ईको मोड का इस्तेमाल करने के दौरान कार में ताकत की कमी महसूस होती है।

Table 04

राइड और हैंडलिंग


बात करें केयूवी-100 की राइड और हैंडलिंग की तो स्टीयरिंग व्हील काफी हल्का है। जो पार्किंग, तुरंत यू-टर्न लेने को काफी आसान बनाता है। स्पीड बढ़ने के साथ यह धीरे-धीरे भारी होता जाता है। राइडिंग में यह ग्रैंड आई-10 से बेहतर नज़र आती है। इस कार में 185/65 आर14 साइज के रबड टायर दिए गए हैं लेकिन यह सड़कों पर ग्रिप बनाने और बेहतर परफॉर्मेंस देने में थोड़े कमजोर हैं। इन्हें इस कार की अहम कमी कहा जा सकता है। कार की ऊंचाई की वजह से तेज़ रफ्तार में मुड़ने के दौरान इसमें बॉडी रोल भी महसूस होता है।

image 24

महिन्द्रा की इस माइक्रो एसयूवी में फ्रंट में डिस्क और रियर में ड्रम ब्रेक्स का इस्तेमाल किया गया है। इसका ब्रेकिंग सिस्टम कार को तुरंत रोकने में सक्षम है। हालांकि एकदम से ब्रेकिंग के दौरान कार झोंक लेती है। इसमें लगे पतले और छोटे टायर तेजी से ब्रेक लगाने के दौरान भरोसेमंद नज़र नहीं आते हैं। ब्रेक पैडल के फंक्शन को और बेहतर बनाया जा सकता था।

कार के सस्पेशन सिस्टम की बात करें तो यह झटकों और हल्के उबड़-खाबड़ रास्तों पर ठीक-ठाक काम करता है। ज्यादा खराब सड़क पर चलने के दौरान पैसेंजरों को झटके महसूस हो सकते हैं। इसके सस्पेंशन सिस्टम को अच्छी सड़कों के लिए या सिटी ड्राइविंग के हिसाब से ट्यून किया गया है। सिटी ड्राइविंग में इसका प्रदर्शन अच्छा रहता है। कभी-कभार की हाई-वे ड्राइविंग के लिए यह कार ठीक है।

सेफ्टी


सेफ्टी के तौर पर केयूवी-100 के सभी वेरिएंट में एबीएस और ईबीडी को स्टैंडर्ड फीचर्स में शामिल किया गया है। वहीं सभी वेरिएंट में एयरबैग का विकल्प भी मौजूद है।

image 25

कार के फ्रंट साइड में 3 सीट का ऑप्शन दिया गया है। यहां सेफ्टी के लिए एक लैप बेल्ट दी गई है। एयरबैग के अभाव में यहां डैशबोर्ड और गियर लिवर दुर्घटना की स्थिति में बीच में बैठे पैसेंजर के लिए घातक साबित हो सकता है। हमारी सलाह है कि इस ऑप्शन से बचना चाहिए और 2+3 सीटिंग का ऑप्शन चुनना चाहिये।

Table 05

वेरिएंट


कम बजट रखने वालों के लिए केयूवी-100 का बेस वेरिएंट काफी अच्छा विकल्प है। पहली बार कार खरीदने वालो के लिए इस में बॉडी कलर बम्पर, पावर स्टीयरिंग, रियर स्पॉइलर, मैनुअल एसी के साथ हीटर जैसे फीचर इसे पहली बार कार खरीदने वालों के लिए अच्छा विकल्प बनाते हैं।

अगर आते हैं मिड वेरिएंट के4 पर तो यहां कार को एसयूवी जैसा फील देने के लिए व्हीलआर्च पर क्लैडिंग दी गई है। के6 में कम्फर्ट लेवल को बढ़ाते हुए इंफोटेंमेंट सिस्टम, कूल्ड ग्लोव बॉक्स, मल्टीपल ड्राइविंग मोड और काफी सारे फीचर्स जोड़े गए हैं।

टॉप वेरिएंट में डे-टाइम रनिंग एलईडी लाइट, माइक्रो हाईब्रिड फीचर (इंजन स्टार्ट/स्टॉप) और अलॉय व्हील जैसे फीचर्स यहां देखने को मिलते हैं। वहीं इसमें सेफ्टी के लिए ड्यूल एयरबैग भी दिए गए हैं।

Table 06

निष्कर्ष


महिन्द्रा ने इस माइक्रो एसयूवी को खासतौर पर युवाओं को ध्यान में रखते हुए तैयार किया है। इसका डिजायन और स्टाइल भी वैसा ही रखा गया है। कम बजट में 6 सीटर का विकल्प चाहने वालों के लिए भी केयूवी-100 एक अच्छा विकल्प साबित हो सकता है।

image 26

अगर आप एक पारंपरिक और व्यवहारिक हैचबैक कार चाहते हैं तो आपको हुंडई ग्रैंड आई-10 और मारूति स्विफ्ट की ओर जाना चाहिए। लेकिन अगर आपको कुछ अलग दिखने की चाहत है तो फिर यह 'कूल यूटीलिटी व्हीकल' अच्छा विकल्प है।