हुंडई Creta

` 9.6 - 15.2 Lac*
हुंडई  Creta फोटोज
  • रंग (कलर्स)
  • +

हुंडई Creta मॉडल और कीमत

वेरिएंट की लिस्ट नीचे देखें

एडव्टाइजमेंट

हुंडई के अन्य कार मॉडल

 
*Rs

हुंडई Creta के विडियो

यू-ट्यूब & वेब से सबसे अच्छा विडियो उठाया है - व्यू ऑॅल

भारत में हुंडई Creta के रिव्यू

 

हाईलाइट्स


16 मार्च 2016: हुंडई ने पेट्रोल इंजन वाली क्रेटा को भी ऑटोमैटिक गियरबॉक्स से लैस कर दिया है। इसकी कीमत 13.48 लाख रूपए (एक्स-शोरूम, मुंबई) रखी गई है। ऑटोमैटिक गियरबॉक्स का विकल्प केवल क्रेटा एसएक्स प्लस वेरिएंट में मिलेगा। यह वेरिएंट टॉप वेरिएंट एसएक्स (ओ) से नीचे का वेरिएंट है। इसमें अलॉय व्हील, रिवर्स पार्किंग सेंसर, प्रोजेक्टर हैडलैंप्स के साथ डे-टाइम रनिंग एलईडी लैंप्स और पुश बटन स्टार्ट जैसे फीचर्स भी मिलेंगे। इंजन स्पेसिफिकेशन की बात करें तो इसमें 1.6 लीटर का पेट्रोल इंजन लगा है, जो 123 पीएस की पावर और 151 एनएम का टॉर्क देता है।।

परिचय


हुंडई मोटर्स को हमेशा से बाजार की सही परख रखने वाली कंपनी माना जाता है। इसे पता है कि कौन सा प्रोडक्ट कब और किस समय उताराने से फायदा होगा। प्रीमियम हैचबैक सेगमेंट में एलीट आई-20 इसका सटीक उदाहरण है। इस कार ने अपने सेगमेंट में पूरी तरह से एक कब्जा जमाया हुआ है।

1
अब हैचबैक सेगमेंट पर धीरे-धीरे मिनी-एसयूवी सेगमेंट भारी पड़ने लगा है। यहां हुंडई थोड़ा सा चूकी और वक्त रहते बाजार की नब्ज़ नहीं पकड़ पाई। मुकाबले में हुए नुकसान को कम करने के लिए एलीट-आई 20 के प्लेटफॉर्म पर बनी आई-20 एक्टिव को बाजार में उतारा। हालांकि यह लोगों को उतना नहीं लुभा सकी और कंपनी को ऐसी दमदार कॉम्पैक्ट एसयूवी की जरुरत थी जो सेगमेंट में रेनो डस्टर को टक्कर दे सके। ऐसे में कंपनी ने आईएक्स-25 को भारतीय बाजार में उतारने की योजना पर काम शुरू किया। यह कार चीन में पहले से ही बिक रही थी। एलीट आई-20 के प्लेटफॉर्म पर बेस्ड आईएक्स-25 का इंजन वरना सेडान से लिया हुआ है। भारत में इसे हुंडई क्रेटा नाम मिला। यहां कंपनी ने इसे ‘द परफेक्ट एसयूवी’ के तौर पर उतारा है। कंपनी का दावा कितना दमदार है, आइए जानते हैं...

प्लस पॉइंट



1. हुंडई की फ्लूडिक 2.0 डिजायन पर बनी यह कार डिजायन के मामले में अच्छी है।
2. सिटी ड्राइविंग में यह आरामदायक है, इसका इंजन शांत और स्मूद है।
3. सस्पेंशन काफी बेहतर है, हुंडई की दूसरी कारों की तरह यह ज्यादा झटके नहीं देती है।

माइनस पॉइंट



1. कीमत में थोड़ी कम हो सकती थी। यह कार थोड़ी महंगी है।
2. ऑल व्हील ड्राइव का विकल्प नहीं है, जो इसे ऑफरोडर नहीं बनाता है।
3. पेट्रोल वर्जन में ऑटोमैटिक का ऑप्शन नहीं है। केवल डीज़ल में ही यह सुविधा है।
4. टॉप-एंड वेरिएंट, पेट्रोल इंजन में उपलब्ध नहीं है और डीज़ल में इस वेरिएंट में ऑटोमैटिक ट्रांसमिशन नहीं मिलेगा। इसमें कर्टन एयरबैग, 17 इंच के अलॉय और लैदर इंटीरियर की कमी भी खलती है।
5. इंस्ट्रूमेंट क्लस्टर में माइलेज़ और मौजूदा फ्यूल में कितनी दूरी तय की जा सकती है यह बताने वाला फीचर नहीं दिया गया है। इतनी कीमत पर भी इस फंक्शन की कमी थोड़ा अजीब है।

खास फीचर्स



1. 7 इंच का इंफोटेंमेंट सिस्टम नेविगेशन के साथ दिया गया है।
2. अच्छे सेफ्टी फीचर्स से लैस है। विकल्प के तौर पर 6 एयरबैग व इलेक्ट्रॉनिक स्टैब्लिटी प्रोग्राम मौजूद हैं। चीन में हुए क्रैश टेस्ट में इसका प्रदर्शन अच्छा रहा है।
3. डीज़ल मॉडल में ऑटोमैटिक गियर बॉक्स की पेशकश अच्छा कदम है।

ओवरव्यू


हुंडई लॉन्च से पहले ही कारों को चर्चित बना देने की कला में माहिर मानी जाती है। क्रेटा के साथ भी कंपनी ने ऐसा ही कुछ किया। इसे परफेक्ट एसयूवी के तौर पर पेश किया। अर्बन एसयूवी यानी खासतौर पर शहरों के लिए बनी लिए क्रेटा का डिजायन तो अच्छा है ही साथ ही यह काफी सारे फीचर्स से भी लैस है, जो रेनो डस्टर की परेशानियों को बढ़ाने वाली बात है। क्रेटा को दो डीज़ल और एक पेट्रोल इंजन विकल्प में उतारा गया है। डीज़ल में ऑटोमैटिक वेरिएंट को मिलाकर इसके कुल 6 वेरिएंट उपलब्ध हैं। क्रेटा शहर में चलाने के साथ ही हाईवे की लंबी-लंबी राइड के लिए भी अच्छी है। ऐसे लोगों के लिए परफेक्ट कोम्बिनेशन है जिन्हें शहरी ड्राइविंग में कार का कंफर्ट और हाईवे पर बड़ी एसयूवी का अहसास चाहिये।

एक्सटीरियर


इसमें कोई दो राय नहीं है कि क्रेटा इस सेगमेंट की सबसे शानदार और अच्छी दिखने वाली कार है। इसके प्रतियोगियों की बात करें तो जब यह आई तब रेनो डस्टर थोड़ी पुरानी हो चली थी, वहीं क्रेटा की तुलना में ईकोस्पोर्ट की बनावट और डायमेंशन को बहुत अच्छा नहीं कहा जा सकता। क्रेटा, हुंडई की फ्लूडिक 2.0 डिजायन थीम पर तैयार की गई है। अगर इसे मिनी सेंटा-फे भी कहा जाए तो कुछ गलत नहीं होगा। कुल-मिलाकर देखें तो अग्रेसिव लुक और शानदार बाहरी डिजायन के साथ इसमें वह सब कुछ है जो एक एसयूवी में होना चाहिए।

2
कार की फ्रंट प्रोफाइल पर नजर डालें तो यहां ट्रिपल स्लेट क्रोम रेडिएटर ग्रिल और आकर्षक प्रोजेक्टर हैडलैंप्स दिए गए हैं।

3
ग्रिल के एकदम पास में स्वेप्ट बैक डिजायन का हैडलाइट कलस्टर मिलेगा, इसमें प्रोजेक्टर हैडलैंप्स, इंडिकेटर्स और कॉर्नर लैंप्स दिए गए हैं। नीचे की ओर डे-टाइम रनिंग लाइट्स भी मिलेंगी। बम्पर बड़े साइज़ का दिया गया है, इसमें वर्टिकल फॉग लैंप्स और सिल्वर स्किड प्लेट दी गई है। पीछे की ओर भी स्किड प्लेट देख सकते हैं।

4
साइड में 17 इंच के डायमंड अलॉय व्हील दिए गए हैं। व्हील आर्च की पोजिशन अच्छी रखी गई है। हालांकि डीज़ल के केवल टॉप एंड मैनुअल वेरिएंट में ही 17 इंच के अलॉय उपलब्ध हैं, बाकी सभी में 16 इंच के अलॉय मौजूद हैं। इसमें डस्टर की तरह ही 215 एमएम के टायर दिए गए हैं। साइड में भी ब्लैक कलर की क्लैडिंग दी गई है।

5
कार के साइड प्रोफाइल में 2 कर्व लाइनें निकलती हैं। पहली फ्रंट व्हील आर्च से होती हुई टेललैंप्स तक जाती हैं। दूसरी प्लास्टिक क्लैडिंग के ठीक ऊपर से होती हुई फ्रंट व्हील आर्च से पिछले व्हील आर्च तक जाती है। छत पर लगी रूफ रेल्स इसे स्पोर्टी लुक देती हैं। हालांकि यह केवल सजावट के तौर पर लगाई गई है, इस पर सामान नहीं रखा जा सकता। यह एसयूवी लुक देने के अलावा कार की ऊंचाई को थोड़ा बढ़ाती हैं।

6
कार के पीछे की तरफ का डिजायन काफी सिंपल है। नम्बर प्लेट के ठीक ऊपर क्रोम फिनिशिंग देखने को मिलेगी। टेललैंप्स, एलीट-आई 20 की तरह दो हिस्सों बूट डोर और साइड में बंटे हुए हैं। पीछे का बंपर भी काफी उभरा हुआ है इस पर हॉरिजॉन्टल रिफलेक्टर्स दिए गए हैं। पिछले बम्पर पर ठीक वैसी ही सिल्वर स्किड प्लेट देखने को मिलेगी, जैसी फ्रंट बम्पर पर दी गई है। डायमेंशन की बात करें तो यह 4270एमएम लम्बी है जो रेनो डस्टर से 45 एमएम व मारूति एस-क्रॉस से 30 एमएम छोटी है। ईकोस्पोर्ट से यह 270 एमएम लंबी है, हालांकि फोर्ड ईकोस्पोर्ट को टैक्स से बचाने के लिए 4 मीटर से कम रखा गया है। चौड़ाई के मामले में भी क्रेटा, डस्टर से 42एमएम कम है। रेनो डस्टर की बात करें तो यह एक परंपरागत एसयूवी दिखती है लेकिन क्रेटा के मामले में ऐसा नहीं है। इसका डिजायन ईकोस्पोर्ट जैसा है, ये दोनों ही सामान्य एसयूवी जैसी रफ-टफ नज़र नहीं आती हैं।

Table-1

इंटीरियर


केबिन शुरूआत से ही हुंडई का एक प्लस पॉइंट रहा है। क्रेटा में ब्लैक इंटीरियर का इस्तेमाल किया गया है, वहीं डैशबोर्ड बेज़ कलर भी देखने को मिलेगा, जो कि एक डोर पैनल से दूसरे डोर पैनल तक दिया गया है। इसकी फिटिंग और फिनिशिंग कंपनी की दूसरी कारों की तरह ही काफी अच्छी है।

7
डैशबोर्ड के सेंटर में 7 इंच का टचस्क्रीन इंफोटेंमेंट सिस्टम दिया गया है जो इन-कार एंटरटेंमेंट और नेविगेशन के साथ है। नीचे के वेरिएंट में नेविगेशन सिस्टम नहीं मिलेगा लेकिन एक जीबी की इंटरनल स्टोरेज़ मिलेगी। इसमें ब्लूटूथ, ऑक्स और यूएसबी कनेक्टिविटी भी दी गई है।

8
डैशबोर्ड के टॉप पर एक छोटी डिजिटल क्लॉक दी गई है। इंफोटेंमेंट सिस्टम के साइड में दोनों ओर वर्टिकल एसी वेंट्स दिए गए हैं। जिन्हें क्रोम से सजाया गया है।

9
इसके नीचे की ओर ऑटोमैटिक क्लाइमेट कंट्रोल सिस्टम के कंट्रोल्स दिए गए हैं। एसी यूनिट काफी पावरफुल है। इसमें पिछली तरफ भी एसी वेंट दिए गए हैं।

10
गियर लीवर के आगे की तरफ काफी स्टोरेज स्पेस दिया गया है। इसके ऊपर की तरफ पावर सॉकेट के अलावा, ऑक्स और यूएसबी पॉइंट दिए हुए हैं। इन पर दी गई ब्लू कलर की लाइट अंधेरे में इनस्लॉट को ढूढ़ने में मददगार साबित होती है।

11
स्टीयरिंग व्हील लेदर-कवर वाला है। स्टीयरिंग व्हील को ऊपर-नीचे एडजेस्ट कर सकते हैं लेकिन आगे-पीछे की तरफ एडजेस्ट करने की सुविधा यहां नहीं दी गई है। एलीट आई-20 में यह सुविधा दी गई है लिहाजा क्रेटा में इस फीचर का ना मिलना थोड़ा अखरता है। स्टीयरिंग व्हील ठीक जगह पर लगा है और यह इस्तेमाल में कम्फर्टेबल है। स्टीयरिंग पर कंट्रोल्स बटन और स्विच का बेहतर कोम्बिनेशन देखने को मिलेगा। बाईं तरफ इंफोटेन्मेंट सिस्टम और दाईं तरफ इंस्ट्रूमेंट कंसोल के कंट्रोल्स हैं।

12
इंस्ट्रूमेंट क्लस्टर में टेकोमीटर और स्पीडोमीटर के लिए बड़े साइज के डायल दिए गए हैं। यहां डिजिटल टेम्प्रेचर और फ्यूल गेज़ को एक जगह दिया गया है। सेंटर में एमआईडी (मल्टी इंफोर्मेशन डिस्प्ले) दी गई है। यहां 2 ट्रिप मीटर देखने को मिलेंगे जो तय की गई दूरी और औसत स्पीड को दिखाते हैं। फ्यूल ईकोनॉमी और डिस्टेंस टू एम्पिटी जैसे फीचर्स की कमी भी यहां देखने को मिलेगी। यह थोड़ा सा मायूस करने वाली बात है क्योंकि इस सेगमेंट की कार में इन फीचर्स की मौजूदगी एक तरह से जरूरी है। इसके अलावा, यहां ट्रैक्शन कंट्रोल और स्टेब्लिटी कंट्रोल स्टेट्स, गियर शिफ्ट इंडिकेटर्स, आउटसाइड टेम्प्रेचर और पार्किंग सेंसर से जुड़ी जानकारी मिलेगी।

13
डैशबोर्ड पर ड्राइवर के बाईं तरफ स्टार्ट-स्टॉप बटन और दाईं तरफ ट्रैक्शन कंट्रोल, इंस्ट्रूमेंट क्लस्टर इल्यूमिनेशन और हैडलाइट की पोजिशन को सेट करने वाले कंट्रोल्स हैं। इसका की-लैस सिस्टम काफी एडवांस है यह अपने आस-पास चाभी की मौजूदगी के अलावा यह भी पता लगा सकता है कि चाभी कार के अंदर है या बाहर। ड्राइवर साइड के दरवाजे पर लगे सेंसर से भी कार को अनलॉक कर सकते हैं। डोर हैंडल पर दिया गया ब्लैक बटन यह पता लगाता है कि कार की चाबी आसपास ही है। इस तरह से बिना चाभी को निकाले आप कार में एंट्री कर सकते हैं और कार को चला भी सकते हैं।

14
दरवाजों पर दिए शीशों को इलेक्ट्रिकली सेट और फोल्ड किया जा सकता है। इसके लिए ड्राइवर साइड वाले दरवाजों पर कंट्रोल्स दिए गए हैं। इसी में पावर विंडो और सेंट्रल लॉकिंग के कंट्रोल भी मौजूद हैं। डोर पर ही फ्रंट स्पीकर दिया गया है। यहां 1 लीटर की वाटर बोतल रखने का स्पेस भी मिलेगा।

15
क्रेटा में दिया गया ग्लोव बॉक्स साधारण है। इसमें न तो किसी तरह की लाइटिंग दी गई है न ही कूलिंग जैसा कोई फंक्शन। यह हार्ड प्लास्टिक से बनाया गया है। इसमें कोई कवर भी नहीं मिलेगा।

16
केबिन में मौजूद सनवाइजर की क्वालिटी भी क्रेटा की कीमत को देखते हुए निराश करने वाली है। पैसेन्जर के लिए बिना लाइट वाला वैनिटी मिरर दिया गया है। वहीं ड्राइवर साइड में केवल एक सिंपल स्ट्रिप दी गई है। जहां छोटी-मोटी पर्चियां रखी जा सकती हैं। फ्रंट में मौजूद केबिन लैंप दो यूनिट में बंटा हुआ है। इसमें लैंप स्विच और ब्लूटूथ माइक दिया गया है। सनग्लास होल्डर को इसी के साथ अटैच किया गया है।

17
सीटों पर आर्टिफिशियल लैदर कवर चढ़ाकर एक बेहतर अहसास देने की कोशिश की गई है। नीचे के वेरिएंट में फेब्रिक सीट कवर दिए गए हैं। सीटें आरामदायक हैं और ड्राइवर सीट में हाईट एडजेस्ट करने की सुविधा है। क्रेटा में अच्छी ड्राइविंग पोजिशन और हैडरूम मिलता है। शोल्डर रूम जरूर थोड़ा सा तंग है।

18
पिछली तरफ की सीटों को भी आगे जैसा ही रखा गया है। सीटों की पोजिशन अच्छी है और लैगरूम भी पर्याप्त है।

19
पीछे की तरफ ही सेन्टर आर्मरेस्ट के साथ कप होल्डर भी दिए गए हैं। पीछे की सीट पर जगह थोड़ी कम है। यह तीन के बजाए दो व्यस्क पैसेंजर्स के लिए ही ठीक हैं।

20
पीछे की ओर 2 हैडरेस्ट दिए गए हैं, इन्हें एडजेस्ट करने की सुविधा मौजूद है। यहां एसी वेंट्स और चार्जिंग पॉइंट भी दिया गया है। कार के डिजायन की वजह से पिछली खिड़कियों का साइज़ थोड़ा छोटा है। इस वजह से पीछे बैठे पैसेंजरों को बाहर देखने में थोड़ी दिक्कत महसूस हो सकती है। बूट स्पेस की बात करें तो यह 400 लीटर का है जो रेनो डस्टर की तुलना में कम है। ज्यादा स्पेस के लिए पीछे की सीटों को फोल्ड कर ज्यादा सामान के लिए जगह बनायी जा सकती है।

Table-2
हमारा मानना है कि क्रेटा की इंटीरियर व फिनिशिंग अच्छी है लेकिन इस सेगमेंट की कार के लिहाज से कुछ फीचर्स की कमी यहां खलती है। यहां कई ऐसे फीचर्स हैं जो इससे छोटी कारों में हैं लेकिन यहां नदारद हैं। ऐसे में क्रेटा, हुंडई की कार होने के नाते अपनी ज्यादा कीमत को तर्कसंगत नहीं ठहरा पाती है।

परफॉरमेंस


पेट्रोल इंजन


Table-3
क्रेटा के पेट्रोल मॉडल में वरना में इस्तेमाल हुआ 1.6 लीटर का वीटीवीटी इंजन लगा है। यह इंजन 121 बीएचपी की ताकत के साथ 115 एनएम की पावर देता है। यह आंकड़े ईकोस्पोर्ट (110 बीएचपी) और डस्टर (103 बीएचपी) पर भारी पड़ते हैं। इसका पेट्रोल इंजन थोड़ा कमजोर साबित होता है। इसकी ताकत को पाने के लिए ज्यादा जोर देना पड़ता है। हाईवे ड्राइविंग के दौरान अगर ओवरटेकिंग करनी हो तो कार को निचले गियर पर शिफ्ट करना होगा। ज्यादा आरपीएम होने पर इंजन का शोर केबिन में महसूस होता है। क्रेटा का इंजन 6-स्पीड मैनुअल गियरबॉक्स से जुड़ा है। अब हुंडई ने पेट्रोल वर्जन में भी ऑटोमैटिक का विकल्प दे दिया है। ऑटोमैटिक गियरबॉक्स का विकल्प केवल क्रेटा एसएक्स प्लस वेरिएंट में मिलेगा। क्रेटा का एआरएआई सर्टिफाइड माइलेज 15.29 किलोमीटर प्रति लीटर है, लेकिन हमारे टेस्ट के दौरान कार ने केवल 11 किलोमीटर प्रति लीटर का ही माइलेज़ दिया। सिटी ड्राइविंग के लिए तो पेट्रोल वर्जन बेहतर है लेकिन अगर हाईवे ड्राइविंग ज्यादा है तो फिर इसके डीज़ल वर्जन को चुनना ठीक रहेगा।

डीज़ल इंजन


Table-4
क्रेटा में दो डीज़ल इंजन दिए गए हैं। एक 1.4 लीटर का सीआरडीआई इंजन है। दूसरा, 1.6 लीटर का सीआरडीआई इंजन है। दोनों ही इंजन तीन वेरिएंट में उपल्बध हैं।।

1.4 लीटर सीआरडीआई


यह इंजन एलीट आई-20 में भी दिया गया है। यह इंजन 89 बीएचपी की पावर और 220 एनएम का टॉर्क जनरेट करता है। यह 6-स्पीड गियरबॉक्स से जुड़ा है। कम पावर वाला यह इंजन सिटी ड्राइविंग के लिहाज से अच्छा है। हाईवे पर यह थोड़ा कमजोर महसूस होता है। हालांकि लंबे सफर में यह आपको मायूस नहीं करेगा। 1.4 लीटर का इंजन नीचे के तीन वेरिएंट में उपलब्ध है। यह तीनों वेरिएंट उन ग्राहकों के लिए के सही रहेंगे जिन्हें कम बजट में एसयूवी जैसी कार की चाहत है।।

1.6 लीटर सीआरडीआई


यह इंजन काफी स्मूद और पावरफुल है। हुंडई की वरना सेडान में भी यह इंजन लगा है। इसकी ताकत 126 बीएचपी की है, जो डस्टर (108 बीएचपी) और ईकोस्पोर्ट (99 बीएचपी) से ज्यादा है। इंजन 1900 आरपीएम के बाद अच्छी पावर डिलिवरी देता है। टॉर्क अच्छा है लिहाजा इसे बार-बार निचले गियर में शिफ्ट करने की जरूरत कम पड़ती है। इस इंजन के साथ ड्यूल क्लच ऑटोमैटिक गियरबॉक्स दिया गया है। क्लच काफी हल्का है जो एक प्लस पॉइंट है। शहरी ट्रैफिक में इसे चालाना आरामदायक है। हाईवे पर यह आराम से 100 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार पा लेती है।।

राइड और हैंडलिंग


21
क्रेटा की हैडलिंग और राइड काफी अच्छी है। यह खराब सड़कों पर भी संतुलित बनी रहती है और झटकों को सोख लेती है। इस मामले में इसका प्रदर्शन सेगमेंट की दूसरी कारों से कहीं बेहतर है। वजन के बावजूद क्रेटा में बॉडी रोल को अच्छे से कंट्रोल किया गया है। तीखे मोड़ों के दौरान क्रेटा काफी हद तक संतुलित बनी रहती है। इसके स्टीयरिंग पर भी कंपनी ने काफी काम किया है। कम स्पीड में भी यह हल्का बना रहता है। यह सिटी ड्राइविंग में आरामदाय रहता है। हाईवे पर तेज़ रफ्तार में भारी होने लगता है और अच्छा फीडबैक देता है। क्रेटा का स्टीयरिंग कंपनी की दूसरी कारों की तुलना में ज्यादा बेहतर है।

सेफ्टी


क्रेटा के सभी वेरिएंट में एंटी लॉक ब्रेकिंग सिस्टम (एबीएस) को स्टैंडर्ड फीचर के तौर पर दिया गया है। सेफ्टी के लिहाज से यह काफी बेहतर कार है। इसके टॉप वेरिएंट एसएक्स (ओ) में 6 एयरबैग के अलावा ट्रैक्शन कंट्रोल, इलेक्ट्रॉनिक स्टेबिलिटी प्रोग्राम और हिल स्टार्ट असिस्ट जैसे फंक्शन दिए गए हैं।
22
क्रेटा के बॉडी स्ट्रक्चर को एडवांस हाई-स्ट्रैंथ स्टील से बनाया गया है। दुर्घटना की स्थिति में यह अंदर बैठे पैसेंजर को अच्छी सुरक्षा देती है। चीन में क्रेटा, आईएक्स-25 के नाम से उपलब्ध है। चीन एनसीएपी क्रैश टेस्ट में इसे 5 स्टार रेटिंग मिली है। ध्यान देने वाली बात यह है कि इस टेस्ट में आईएक्स-25 के मिड वेरिएंट एस प्लस को उतारा गया था, जिसमें कर्टन एयरबैग नहीं लगे थे।

Table-5

वेरिएंट


क्रेटा को 3 इंजन ऑप्शन (एक पेट्रोल और दो डीज़ल) के साथ उतारा गया है। 1.6 लीटर वाले पेट्रोल इंजन में तीन वेरिएंट बेस, एस और एसएक्स प्लस दिए गए हैं। 1.4 लीटर के डीज़ल इंजन में भी यही तीन वेरिएंट मौजूद हैं। 1.6 लीटर के डीज़ल इंजन में एसएक्स, एसएक्स प्लस और एक्सएक्स (ओ) वेरिएंट उपलब्ध हैं। डीज़ल में केवल 1.6 लीटर के एसएक्स प्लस वेरिएंट में ऑटोमैटिक गियरबॉक्स का विकल्प दिया गया है।

Table-6
पेट्रोल इंजन वाली क्रेटा शहरी ड्राइविंग के लिहाज से ही ज्यादा बेहतर है। यहां टॉप वेरिएंट में एसएक्स प्लस वेरिएंट को चुन सकते हैं। कभी-कभार की हाईवे ड्राइविंग और ऑटोमैटिक कार का कंफर्ट चाहिये तो फिर ऑटोमैटिक वेरिएंट एसएक्स प्लस (डीज़ल) अच्छा विकल्प है। अगर सभी फीचर्स और फंक्शन से लैस क्रेटा चाहते हैं तो केवल 1.6 लीटर डीज़ल मैनुअल का ही विकल्प बचता है। इस वेरिएंट को सभी सेफ्टी फीचर्स से लैस किया गया है। इसमें 17 इंच के अलॉय व्हील के अलावा लैदर अपहोल्स्ट्री भी दी गई है।

निष्कर्ष


23
अगर आप ऑफ-रोडिंग के फैंन हैं तो क्रेटा शायद आपके भरोसे पर खरी न उतर पाये। इसके लिए रेनो डस्टर का ऑल व्हील ड्राइव वेरिएंट बेहतर विकल्प होगा। लेकिन अगर आपकी ज्यादातर ड्राइविंग अच्छी सड़कों पर होती है तो क्रेटा से बेहतर ऑप्शन कोई और नहीं है। वैसे तो कंपनी ने क्रेटा को ‘द परफेक्ट एसयूवी’ बताया है लेकिन ऑल व्हील ड्राइव का न होना इस दावे को शहरी क्षेत्रों तक ही सीमित कर देता है।