फॉक्सवेगन Ameo

` 5.5 - 9.9 Lac*
फॉक्सवेगन Ameo फोटोज
  • रंग (कलर्स)

फॉक्सवेगन Ameo मॉडल और कीमत

वेरिएंट की लिस्ट नीचे देखें

एडव्टाइजमेंट

फॉक्सवेगन के अन्य कार मॉडल

 
*Rs

फॉक्सवेगन Ameo के विडियो

यू-ट्यूब & वेब से सबसे अच्छा विडियो उठाया है - व्यू ऑॅल

भारत में फॉक्सवेगन Ameo के रिव्यू

 

हाईलाइट्स


फॉक्सवेगन ने अपनी पहली कॉम्पैक्ट सेडान एमियो का डीज़ल अवतार लॉन्च कर दिया है। इसकी शुरुआती कीमत 6.34 लाख रूपए (एक्स, शोरूम, दिल्ली) है। इसे तीन वेरिएंट ट्रेंडलाइन, कंफर्टलाइन और हाईलाइन में उतारा गया है। यह ऑटोमैटिक और मैनुअल दोनों गियरबॉक्स के साथ उपलब्ध है। इसमें 1.5 लीटर का इंजन लगा हुआ है। जो 110 पीएस की पावर और 250 एनएम का टॉर्क देता है।

प्लस पॉइंट



1. पोलो और वेंटो की तरह अंदर-बाहर से मजबूत और अच्छी बिल्ड क्वालिटी
2. सेगमेंट में सबसे ज्यादा फीचर्स से लैस कार, जिनमें क्रूज़ कंट्रोल, एपल कारप्ले समेत कई अच्छे फीचर्स दिए गए हैं।

माइनस पॉइंट



1. एमियो के पेट्रोल इंजन में ऑटोमैटिक गियरबॉक्स का विकल्प नहीं दिया गया है। सेगमेंट में जो कारें मौजूद हैं उनके पेट्रोल वर्जन में भी ऑटोमैटिक का विकल्प दिया गया है।
2. हुंडई और मारूति के मुकाबले कंपनी का सेल्स और सर्विस नेटवर्क काफी कमज़ोर है। टाटा जेस्ट और फोर्ड फीगो एस्पायर के मुकाबले कार के पीछे का डिज़ायन बहुत बेहतर नहीं कहा जा सकता।

खास फीचर्स



1. डीज़ल इंजन में ड्यूल क्लच ऑटोमैटिक गियरबॉक्स लगा है, जो सेगमेंट में पहली बार देखने को मिला है। टाटा ज़ेस्ट और मारूति सुज़ुकी स्विफ्ट डिजायर में ऑटोमैटेड मैनुअल गियरबॉक्स दिया गया है।
2. पैसेंज़र सेफ्टी के मामले में एमियो काफी खास है। इसमें ड्यूल एयरबैग्स के साथ-साथ एबीएस स्टैंडर्ड दिया गया है। सेगमेंट की दूसरी कारों के बेस वेरिएंट में ऐसे फीचर्स नहीं मिलेंगे।

ओवरव्यू


एमियो को फॉक्सवेगन ने काफी अच्छी रणनीति के साथ तैयार किया है। कॉम्पैक्ट सेडान सेगमेंट में पहले से मजबूत स्थिति में मौजूद कारों के मुकाबले एमियो कहीं से भी कमज़ोर नहीं है। कार में काफी सारे नए और दमदार फीचर्स दिए गए हैं जो मुकाबले में मौजूद कारों को कड़ी टक्कर देने की क्षमता रखते हैं। सेफ्टी का भी पूरा ख्याल रखा गया है। इंजन स्पेसिफिकेशन की बात करें तो इस मामले में भी एमियो कहीं से कमज़ोर नहीं है।

एक्सटीरियर


365-22
अगर आगे की तरफ से देखा जाए तो पोलो और एमियो में अंतर कर पाना बेहद मुश्किल है। चार मीटर की लंबाई के दायरे में पलट कर देखने पर मजबूर कर देने वाली कॉम्पैक्ट सेडान तैयार करना करीब-करीब नामुमकिन सा है। इस सेगमेंट की कोई भी कार इस मामले में अपवाद नहीं है। सब फोर मीटर कारें कम टैक्स और ड्यूटी की वजह से जेब पर बोझ तो नहीं डालती लेकिन डिजायन के मामले में इनमें सेडान जैसी बेहतर फिनिश नहीं मिल पाती है।

2
आगे से एमियो पूरी तरह से पोलो की कार्बन कॉपी नज़र आती है। फ्रंट में ड्यूल बैरल हैडलैंप्स और मल्टी स्लेट ग्रिल दी गई है।

3
पोलो फेसलिफ्ट वाला ही फ्रंट बंपर एमियो में भी देखने को मिलेगा। बंपर पर एक कोने से दूसरे कोने तक जानी वाली क्रोम लाइन दी गई है। नीचे फॉग लैंप्स मौजूद हैं जो कॉर्नरिंग लाइट के साथ आते हैं।

4
अगले हिस्से की तरह ही साइड से भी सी-पिलर तक यह पोलो जैसी ही लगती है। सी-पिलर के बाद इसमें बदलाव देखने को मिलते हैं। पीछे की तरफ फ्लैट डिजायन वाला बूट (डिक्की) फिट किया गया है। एमियो में दिए गए अलॉय व्हील्स भी पोलो जैसे ही हैं।

5
ज्यादातर कॉम्पैक्ट सेडान में बूट ही वो चीज़ है जो डिजायन के मामले में अटपटी लगती है। हालांकि कार में बूट को कितनी सफाई से फिट किया गया है यह सबसे महत्वपूर्ण और तारीफ वाली बात होती है। बूट फिटिंग के अच्छे और बुरे दोनों ही उदाहरण इस सेगमेंट में देखने को मिल जाएंगे। लिहाज़ा एमियो भी इस मामले में अपवाद नहीं है। बूट के अलावा पीछे की तरफ इंटीग्रेटेड स्पॉइलर और एलईडी ग्राफिक्स जैसा अहसास देने वाले टेललैंप्स दिए गए हैं जो पोलो/वेंटो की याद दिलाते हैं।

6

इंटीरियर


7
केबिन पर नजर डालें तो यहां आपको पोलो/वेंटो जैसे अहसास होगा। हालांकि आपको यहां पर थोड़े-बहुत बदलाव भी नजर आएंगे। डैशबोर्ड और सेंटर कंसोल की डिजायन पोलो जैसी ही दी गई है। हालांकि यह बहुच तड़क-भड़क वाला नहीं लगेगा लेकिन हां इसकी क्वालिटी और मजबूती तारीफ के काबिल है।

8
एमियो में फ्लैट बॉटम स्टीयरिंग व्हील लैदर कवर के साथ दिया गया है। इसमें पोलो/वेंटो की तरह पियानो ब्लैक पैनल दिया गया है। केबिन में आकर्षण का प्रमुख केंद्र टचस्क्रीन वाला इंफोटेंमेंट सिस्टम है, इसमें यूएसबी, ऑक्स और ब्लूटूथ कनेक्टिविटी दी गई है। इसी स्क्रीन पर रियर पार्किंग कैमरे का वीडियो भी देख सकते हैं। यह सेगमेंट की पहली कार है जिसके इंफोटेंमेंट सिस्टम में मिररलिंक और एपल कार-प्ले सपोर्ट मिलेगा।

9
पीछे की तरफ बेंच सीट दी गई है। पोलो की तुलना में यहां ज्यादा जगह मिलेगी। इसका व्हीलबेस पोलो जितना है। पिछली सीट में नी रूम भी काफी अच्छा मिलेगा। यानी पिछली तरफ बैठने वाले पैसेंजर के घुटने आगे वाली सीटों से नहीं टकराएंगे। इसका बूट स्पेस 330 लीटर का है। इसके अलावा पीछे की तरफ एसी वेंट्स भी दिए गए हैं।

इंजन और परफॉरमेंस



पावर स्पेसिफिकेशन की बात करें तो फॉक्सवेगन एमियो को पेट्रोल और डीज़ल दोनों इंजन ऑप्शन में पेश किया जाएगा। इसके पेट्रोल वेरिएंट में 1.2 लीटर का एमपीआई इंजन मिलेगा। डीज़ल वेरिएंट में 1.5 लीटर इंजन आएगा। कार में 5-स्पीड मैनुअल गियरबॉक्स स्टैंडर्ड रहेगा। जबकि डीज़ल वर्जन में 7-स्पीड ऑटोमैटिक गियरबॉक्स का विकल्प भी मिलेगा। फिलहाल इसे पेट्रोल इंजन में ही उतारा गया है।

10
पेट्रोल इंजन 75 पीएस की पावर और 110 एनएम का टॉर्क जनरेट करेगा। डीज़ल इंजन 90 पीएस की पावर और 230 एनएम का टॉर्क जनरेट करेगा। इस सेगमेंट में एमियो ही एकमात्र कार होगी, जिसमें ड्यूल क्लच ऑटोमैटिक गियरबॉक्स मिलेगा। माइलेज़ की बात करें तो पेट्रोल इंजन करीब 16 किलोमीटर प्रति लीटर और डीज़ल इंजन करीब 20 किलोमीटर प्रति लीटर का माइलेज़ देगा।

सेफ्टी फीचर


फॉक्सवेगन एमियो में कई सेफ्टी फीचर्स दिए गए हैं। पोलो और वेंटो की तरह एमियो में भी ड्यूल एयरबैग और एंटी लॉक ब्रेकिंग सिस्टम (एबीएस) स्टैंडर्ड मिलेगा। फॉक्सवेगन की ये कारें 10 लाख रूपए से कम के बजट में आने वाली सबसे सुरक्षित कारें हैं। डीज़ल ऑटोमैटिक में स्टैंडर्ड सेफ्टी फीचर्स के अलावा इलेक्ट्रॉनिक स्टैबिलाइजेशन प्रोग्राम (ईएसपी) और हिल-होल्ड कंट्रोल फंक्शन भी मिलेगा। हालांकि डीज़ल इंजन वाली एमियो के आने में अभी थोड़ा सा वक्त है, उम्मीद है कि यह भी पेट्रोल वर्जन की तरह काफी प्रतिस्पर्धी और आक्रामक कीमत पर लॉन्च होगी।