भारत में टाटा कार

टाटा ग्रुप की सहायक कंपनी, टाटा मोटर्स लि. (TELCO) अपने आॅटोमोबाइल की दुनिया में 1945 में कदम रखा था और इसके 9 साल बाद 1954 में दिग्गज जर्मन आॅटो कंपनी डेमलर बेंज एजी के साथ कमर्शियल व्हीकल बनाने में हाथ आजमाया। 1969 में डेमलर बेंज और टाटा के गठबंधन को टूटने के बाद टाटा ने कमर्शियल व्हीकल मार्केट को कभी नहीं छोड़ा लेकिन पेसेन्जर व्हीकल निर्माण में हाथ नहीं आजमाया। लेकिन इसके दो दषक बाद, काॅमर्षियल सेग्मेंट में मजबूत पकड़ के बाद टाटा ने 1991 में पहली बार पेसेन्जर व्हीकल क्षेत्र में हाथ डाला और टाटा मोटर्स का यह कदम इण्डियन आॅटो इंडस्ट्री में एक मील का पत्थर साबित हुआ। बहुत जल्दी टाटा ने अपनी पहली कार ‘टाटा सिएरा’ को मार्केट में उतारा जो न केवल इण्डिया की पहली स्पोट्स यूटिलिटी व्हीकल थी बल्कि, सच में पहली डिजाइन थी जो देश में बनी थी। इस कार में कुछ और भी खास बातें थी। यह कार को देश की पहली डीजल कार होने का गौरव प्राप्त हुआ, साथ ही एडजेस्टेबल स्टेरिंग व्हील, पावर विंडो, पावर स्टेरिंग और टेकोमीटर जैसे नए फंक्षन इस कार में मौजूद थे जिनसे इंडियन ग्राहक पहली बार रूबरू हुए थे। अगर बात करें देष में मौजूद टाॅप ब्रांड की तो मारूति सुजुकी, महिन्द्रा और शेवरले के बाद चैथे पायदान पर टाटा भले ही जरूर है लेकिन जहां विष्वसनियता की बात आती हो वहां टाटा मोटर्स का नाम पहले पायदान पर आता है। टाटा मोटर्स का मुख्यलाय मुम्बई में है लेकिन प्रोडेक्षन प्लांट जमषेदपुर (झारखंड), पुणे (महाराष्ट्र), लखनउ (यूपी), पंतनगर (उत्त्तराखंड), धरवाद (कर्नाटका) और सनद (गुजरात) में हैं, साथ ही त्-क् सेन्टर जमषेदपुर, पुणे, लखनउ और धरवाद में स्थित हैं। अपने नेटवर्क को बढ़ाने और ग्राहकों का विष्वास जीतने के लिए देषभर के 27 राज्यों व 4 केन्द्रशासित प्रदेषों के 195 शहरों में टाटा मोटर्स के 250 से अधिक डीलरषिप मौजूद है, जो मारूति और हुडंई के बाद सबसे अधिक हैं। दूसरी ओर, टाटा ने अपनी मेन्यूफेक्चरिंग और असेम्ब्ली यूनिट अर्जनटीना, दक्षिणी अफ्रिका, थाइलैंड और यूके में तथा अतिरिक्त त्-क् सेन्टर साउथ कोरिया, स्पेन और यूके में बनाए हुए हैं। वहीं, भारत, बांग्लादेश, भूटान, श्रीलंका और नेपाल सहित 4 महाद्वीपों के 26 देषों में टाटा ने अपना प्रभुत्व बना रखा है। देश में टाटा के प्रमुख माॅडल विष्व के सबसे बड़े मोटर व्हीकल निर्माण कंपनियों में टाटा मोटर्स का 18 स्थान है लेकिन देश में भी इसका दर्जा काफी आगे हैं। भारत में मिडसाइज कार और यूटिलिटी व्हीकल सेग्मेंट में टाटा मोटर्स के खेमें में टाटा नैनो, टाटा इंडिका eV2, टाटा बोल्ट, टाटा सफारी स्ट्रोम, टाटा वेंचर और टाटा जेस्ट सहित करीब 15 माॅडल मौजूद हैं। अपकमिंग माॅडल टाटा मोटर्स हमेषा ही देश के आॅटो मार्केट में नई टेकनोलाॅजी और डिजाइन लेकर आई है और टाटा नैनो इसका जीता-जागता उदाहरण है। अपनी स्टाइल ओर डिजाइन क्षमता को बढ़ाने के लिए ही टाटा ने इटली बेस्ड डिजाइल और इंजीनियरिंग कंपनी ट्रिलिक्स में 80 प्रतिशत की हिस्सेदारी खरीदी है। वर्तमान में इस माॅडल की 15 कारें भारत की सड़कों पर दौड़ रही हैं और जल्दी ही टाटा नैनो AMT, टाटा अरिका, टाटा जम्प, टाटा काईट हैच, टाटा काईट सेडान, और टाटा नेक्सन जैसे नए माॅडल्स से ग्राहकों को रूबरू कराएगी।
अधिक पढ़े

टाटा कार मॉडल

* यहां दिखाई गई टाटा की कीमत केवल सांकेतिक कीमतें हैं। यह राशि टाटा Rs की निम्नतम अनुमानित कीमत को प्रदर्शित करती है जो टेक्स, रजिस्टट्रेशन, बीमा और सामान की लागत से अलग है। टाटा की सटीक कीमत के लिए टाटा डीलर से सपंर्क करें।

नई कार 2017

2017 में भारत की नई कारों पर पढें | 2017 को आने वाली कार के बारे में रिव्यू और कीमत सहित सभी जानकारी प्राप्त करें।

2017 में भारत की पोपुलर नई कारें

2017 में भारत की पोपुलर नई कारों को सर्च करें। संभावित कीमत और स्पेसिफिकेशन आदि की जानकारी कारदेखोे पर प्राप्त करें.

भारत में टाटा डीलर्स

अधिक देखें टाटा डीलर भारत मे

Other Car Models In India