भारत में हुंडई कार

हुंडई मोटर इण्डिया लि., साउथ कोरिया हुडंई मोटर कंपनी की भारत में पूर्ण स्वामित्व वाली कंपनी है जो देश में मई, 1996 में ऐसे समय पर आई थी जब यहां केवल 5 आॅटोमेकर कंपनियां मारूति उद्योग लि. (अब मारूति सुजुकी), हिन्दूस्तान मोटर्स, प्रिमियर आॅटोमोबाइल लि., टेलको (अब टाटा मोटर्स) और महिन्द्रा एण्ड महिन्द्रा मौजूद थी। उस समय पेसेन्जर कार निर्माता कंपनियों में केवल एक ही नाम जाना पहचाना था और वो था मारूति, वहीं महिन्द्रा और टाटा केवल यूटिलिटी व कोमर्षियल व्हीकल बनाने में आगे थे और फोर्ड, ओपेल तथा होण्डा को भारत में आए एक साल हो चुका था। हुडंई उस समय देष के आॅटो बाजार में एकदम नया नाम था लेकिन मात्र कुछ ही सालों में एक दषक पुरानी मारूति कंपनी को जबरदस्त टक्कर देने योग्य बन गया। सेन्ट्रो हुडंई की भारत में पहली कार थी जिसने हुडंई को देश में पूरी तरह से स्थापित कर दिया। सेन्ट्रो 23 सितम्बर, 1998 को लाॅन्च हुई थी और देष के हैचबैक खरीददारों को एकदम से अपने वष में कर लिया। इस कार से हुडंई ने न केवल एक दषक से ज्यादा पुरानी मारूति कंपनी के वर्चस्व को तोड़ा, बल्कि केवल कुछ ही महिनों में देश की दूसरे नम्बर की और सबसे बड़ी एक्पोर्ट आॅटोमोबाइल कंपनी बन गई जो आज तक बनी हुई है। हुडंई मोटर्स विष्व की निर्यात हब की एक महत्वपूर्ण इकाई है और 2012 में 1.5 करोड यूनिट निर्यात करने के चैकाने वाले आंकडे को पार किया है, साथ ही यूरोपियन संघ, पूर्वी अफ्रिका, लेटिन अमेरिका ओर एषिया महाद्वीप सहित दुनियाभर के करीब 120 देषों में प्रमुख कार निर्यात कंपनी बनी हुई है। वर्तमान में हुडंई ने चेन्नई के निकट अपनी दो मेन्यूफेक्चरिंग कंपनी डाली हुई है जो वर्ष में 6,30,000 यूनिट प्रोडक्शन करने में सक्षम है। यहां के कर्मचारी व्हीकल प्रोडक्शन के लिए लेटेस्ट टेकनोलाॅजी के साथ लेटेस्ट टूल्स भी काम में लेते हैं, यह मेन्यूफेक्चरिंग यूनिट देष के सबसे एडवांस प्रोडक्षन यूनिट में से एक है जिसमें वल्ड-क्लास क्वालिटी के टेस्टिंग स्टैण्डर्ड मौजूद है। अपनी टेकनोलाॅजी को बढ़ाने के लिए इस कुरियन कंपनी ने देश के सायबर सिटी हैदराबाद में मल्टी-मिलियन डाॅलर त्-क् सेन्टर की भी स्थापना की है। भारत में मौजूद अनगिनत ग्राहकों के लिए हुडंई का देषभर में 346 डीलरषिप और करीब 800 सर्विस सेन्टर का एक विषाल नेटवर्क मौजूद है। जहां तक मूल कंपनी का सवाल है, एचएमसी (हुंडई मोटर कंपनी) 1967 के समय से मोटर वाहन उद्योग का एक प्रमुख हिस्सा रहा है, जो एक साउथ कोरियन उद्योगकर्मी चुंग-जू-युंग ने स्थापित की थी। इसकी शुरूआत हुई थी 1968 में आई कंपनी की पहली कार ‘कोरटिना’ से, जो हुडंई और फोर्ड मोटर कंपनी के सहक्रम से बनी थी और जिसने एक लम्बा सफर तय किया और फिर कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। वर्तमान में हुडंई मोटर कंपनी विष्व की चैथे नम्बर की सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी है। इसका मुख्यालय सियोल में है और दुनियाभर के 193 देषों में कंपनी के 6000 से ज्यादा डीलरषिप और शोरूम हैं। दुनियाभर से हुडंई ब्रांड की चैका देने वाली मांग को पूरा करने के लिए कंपनी ने उल्सान में अल्टीमेट मेन्यूफेक्चरिंग फेक्ट्री की स्थापना की है जो विष्व की सबसे बड़ी आॅटोमोबाइल उत्पादन इकाई है और सालभर में 1.6 मिलियन यूनिट निर्माण करने की क्षमता रखती है। भारत में हुंडई के माॅडल हुंडई एक अच्छी और अनुभवी आॅटोमोबाइल कंपनी है जिसने भारत के कार बाजार में काफी बड़े पैमाने पर अपना ग्राहक खेमा बनाया है। उसकी माॅडल सीरीज में शामिल हैचबैक, सेडान और एसयूवी कारों ने उसके इस काम को बखूबी अंजाम दिया है। फिलहाल उसके रेंज में 9 माॅडल मौजूद हैं जिसमें से ग्राहकों को चुनने के लिए काफी सारे वेरिएंट उपलब्ध कराए गए हैं। हुडंई गु्रप में इस समय हुंडई इयोन, आई-10, एक्सेंट, एलिट आई-20 और वरना जैसे माॅडल हैं। हुंडई की सबसे किफायती कार हुंडई देष में बेचे जानी वाली कार कंपनियों में दूसरे नम्बर पर कायम है। उसके बेड़े में एंट्री लेवल हैचबैक से लेकर प्रिमियम हैचबैक,एक्सक्यूसिव सेडान से लेकर प्रिमियम सेडान और स्पोट्स यूटिलिटी व्हीकल तक शामिल हैं। जैसे की जाहिर है कि भारत में कीमत काफी मायने रखती है इसलिए हुडंई ने अपनी ब्रांड सीरीज में लग्जरी, किफायती और महंगी सहित सभी माॅडल को शामिल किया है। यहां ह्युंडै की सबसे सस्ती और किफायती कार के रूप में हुडंई इयोन है जो 3,05,520 रूपए में आती है जो देष की सबसे सस्ती कारों में से एक है। हुंडई की सबसे महंगी कार भारत में सक्रिय भागीदारी और एक अग्रणी प्रतिद्वंद्वी होने के नाते प्रिमियम सेग्मेंट में हुडंई को अपनी टीम के लिए एक सही मायने में भागीदार मिल गया है। इस कार में लग्जरी लुक, एडवांस फीचर्स और शानदार कम्फर्ट सहित वह सभी खूबियां मौजूद हैं जो एक शानदार कार में होनी चाहिए। अपनी अच्छी सुविधाओं और एडवांस फीचर्स के कारण इसकी कीमत थोड़ी ज्यादा है। वर्तमान में देष में हुंडई ब्रांड की सबसे महंगी कार ह्युंडै सेन्टा फे है, जिसकी कीमत 26,65,432 रूपए है। हुंडई की सबसे ज्यादा माइलेज वाली कार पिछले करीब चार दषकों में हुडंई एक प्रमुख आॅटोमोबाइल इंडस्ट्ररी बनकर उभरी है और इन 40 सालों में उसने वी8 सहित कुछ शानदार इंजनों का उत्पादन किया है जिसमें 2009 का बेस्ट इंजन अवाॅर्ड इंजन भी शामिल है। इसी टेकनोलाॅजी को हुडंई भारत में भी लाया है और देष में सहारा भी गया है। इसी क्रम में कंपनी की पावर के साथ ज्यादा माइलेज देने वाली कार ह्युंडै वरना भी शामिल है जिसकी कीमत 7,69,420 रूपए है। हुंडई की अपकमिंग कार भारत में लगातार आगे बढ़ने और अपनी साख को कायम रखने के लिए हुंडई ब्रांड ने समय-समय पर नए माॅडल उतारने के साथ ही उन्हें अपडेट भी किया है। हुडंई की इसी सोच ने देष में पहले से मौजूद मारूति सुजुकी इण्डिया, होण्डा कार इण्डिया, फोर्ड इण्डिया और शेरवले इण्डिया सहित अपने सभी प्रतिद्वंद्वियों को कड़ी टक्कर दी है। आने वाले कुछ दिनों में ह्युंडै पग25, हुडंई सोनोटा और हुंडई टकसन जल्द ही हुडंई के बेड़े में शामिल होंगे।
अधिक पढ़े
* यहां दिखाई गई हुंडई की कीमत केवल सांकेतिक कीमतें हैं। यह राशि हुंडई Rs की निम्नतम अनुमानित कीमत को प्रदर्शित करती है जो टेक्स, रजिस्टट्रेशन, बीमा और सामान की लागत से अलग है। हुंडई की सटीक कीमत के लिए हुंडई डीलर से सपंर्क करें।

नई कार 2017

2017 में भारत की नई कारों पर पढें | 2017 को आने वाली कार के बारे में रिव्यू और कीमत सहित सभी जानकारी प्राप्त करें।

2017 में भारत की पोपुलर नई कारें

2017 में भारत की पोपुलर नई कारों को सर्च करें। संभावित कीमत और स्पेसिफिकेशन आदि की जानकारी कारदेखोे पर प्राप्त करें.

भारत में हुंडई डीलर्स

Other Car Models In India